Input your search keywords and press Enter.

पेट्रोल-डीज़ल में लगी आग पर भड़के रघुवंश प्रसाद सिंह, आंकड़ों के साथ केन्द्र सरकार पर बोला हल्ला

न्यूज़ डेस्क: राष्ट्रीय जनता दल के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष सह पूर्व केन्द्रीय मंत्री डाॅ. रघुवंश प्रसाद सिंह ने संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा है कि नरेन्द्र मोदी सरकार के चार साल बीत गये. इन चार वर्षाें में पेट्रोल-डीजल की कीमतों में बराबर वृद्धि हो रही है. अभी पेट्रोल 83 रुपये प्रति लीटर और डीज़ल 72 रुपये प्रति लीटर से अधिक पर बिक रहा है.

देश में हाहाकार मचा हुआ है जबकि पाकिस्तान में पेट्रोल 44 रुपये प्रति लीटर और डीज़ल 51.15 रुपये प्रति लीटर, नेपाल में पेट्रोल 68 रुपये प्रति लीटर और डीजल 54.27 रुपये प्रति लीटर बिक रहा है. ज्ञातव्य है कि नेपाल में सारा पेट्रोलियम पदार्थ यहीं से जाता है. साल 2014 से पहले पूर्व की सरकार ने 140 डाॅलर प्रति गैलन क्रूड आॅयल की कीमत थी तबकी सरकार में 70 रुपये प्रति लीटर पेट्रोल बिका लेकिन नरेन्द्र मोदी सरकार आने के बाद विदेश में 40 डाॅलर प्रति गैलन क्रूड आॅयल हो गया, तब भी यहां पर पेट्रोल 60 रुपये प्रति लीटर से कम नहीं किया.

Loading...

Widget not in any sidebars

इस प्रकार केन्द्र सरकार पेट्रोलियम पदार्थों के मामले में जनता को लूट रही है और कई वर्षों से केन्द्र इन पदार्थों की कमाई खा रही है. महंगाई में लगातार वृद्धि हो रही है. राशन-किरासन गायब है. अब नाक से पानी ऊपर आ गया है. किसानों को गेंहू और मक्का का न्यूनतम समर्थन मूल्य नहीं मिल पाया है.

गेहूं और मक्का की खरीद भी शुरू नहीं हुई है जबकि पंजाब में गेहूं की उगाही समाप्त हो रही है. अतः पेट्रोलियम पदार्थों की बेतहाशा मूल्य वृद्धि, महंगाई और गेहूं, मक्का की खरीद में सरकार की विफलता के विरूद्ध कल 26 मई, 2018 को राजद की ओर से जानदार प्रदर्शन होगा. अभी तक जीएसटी से पेट्रोल-डीजल को बाहर क्यों रखा गया है और नोटबंदी में एक हजार के नोट को ख़त्म कर 2000 का नोट क्यों आया? इस संवाददाता सम्मेलन में राजद के प्रदेश अध्यक्ष डाॅ. रामचन्द्र पूर्वे, आपदा प्रबंधन प्रकोष्ठ के अध्यक्ष पीके चैधरी, पटना जिलाध्यक्ष देवमुनी सिंह यादव एवं मदन शर्मा उपस्थित थे.


Widget not in any sidebars

Leave a Reply

Your email address will not be published.