Input your search keywords and press Enter.

अब राम विलास पासवान ने सवर्णों के लिए उठाई 15% आरक्षण की मांग

सवर्णों के वोट बैंक पर अब सभी ने डोरे डालने शुरू कर दिए है. जी हाँ कांग्रेस सहित कई दलों ने सवर्णों को आरक्षण देने की मांग उठाई है. राम विलास पासवान ने भी गरीब सवर्णों को आरक्षण देने की बात कही है. पटना में रामविलास ने मीडिया से बात करते हुए सवर्ण आरक्षण पर खुलकर अपनी बात रखीं.

रामविलास पासवान ने कहा कि अब खुद वह सवर्णों के आरक्षण की लड़ाई लड़ेंगे. उन्होंने आरोप लगाया कि 6 सितम्बर को बुलाये गये भारत बंद को विपक्षी दलों का समर्थन हासिल था. कांग्रेस तो आज गरीब सवर्णों को 10 फीसदी आरक्षण देने की बात कह रही है मैं तो 15 फीसदी आरक्षण देने की बात कब से कह रहा हूं.

Loading...

राम विलास पासवान ने कहा कि इतिहास में कई ऐसे सवर्ण हुए हैं जिन्होंने अनुसूचित जाति के हक की लड़ाई लड़ी है. भगवान बुद्ध, स्वामी दयानंद सरस्वती, स्वामी विवेकानंद, वी पी सिंह जैसे प्रबुद्ध लोगों ने इस वर्ग के लिए बहुत कुछ किया. अनुसूचित जाति के बहुत कम नेता हुए जिन्होंने अपने हक के लिए आवाज उठायी. अब मैं भी सवर्णों की लड़ाई लड़ूंगा. सभी वर्गों को आबादी के हिसाब से हक मिलना चाहिए. ऊंची जाति में जो गरीब लोग हैं उनको 15 फीसदी आरक्षण मिलना चाहिए. कांग्रेस जब सत्ता में थी तब उसे ऊंची जांति के बारे में कुछ ख्याल नहीं आया. अब वह 10 फीसदी आरक्षण देने की बात कर रही है.

बता दें कि आज वैशाली के मनहार में एससी-एसटी कानून का विरोध कर रहे युवकों ने केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान के काफिले को घेर लिया. इस दौरान विरोध कर रहे युवकों ने केंद्रीय मंत्री को काले झंडे दिखाए और मुर्दाबाद के नारे लगाए. सुरक्षाकर्मियों ने काफी मशक्‍कत के बाद पासवान के काफिले को हैलीपैड तक पहुंचाया. जानकारी के अनुसार केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान शुक्रवार को बाबा गणिनाथ मंदिर के जीर्णोद्वार कार्यक्रम में शामिल होने वैशाली के महनार आए थे.

Leave a Reply

Your email address will not be published.