Input your search keywords and press Enter.

आरसीपी सिंह का प्रशांत किशोर पर फिर हमला ,सामने आई पुरानी खुन्नस

मूल तौर पर बिहार के बक्‍सर जिले के रहने वाले प्रशांत किशोर उर्फ पीके चुनावी रणनीतिकार के तौर पर काफी नाम कमा चुके हैं.उन्‍होंने चुनावी रणनीतिकार के तौर पर सबसे पहली भूमिका गुजरात के तत्‍कालीन मुख्‍यमंत्री नरेंद्र मोदी के लिए निभाई. बाद में वे प्रधानमंत्री पद के लिए भी मोदी के चुनाव प्रचार अभियान में सक्रिय रहे.हालांकि बाद नरेंद्र मोदी के प्रधानमंत्री बनने के बाद भाजपा से उनका रिश्‍ता टूट गया और इसके बाद वे अलग-अलग राज्‍यों में मुख्‍य तौर पर भाजपा के विरोधी दलों के लिए चुनावी रणनीतिकार की भूमिका निभाते आए हैं.अब बिहार की प्रमुख राजनीतिक पार्टी जदयू के राष्‍ट्रीय अध्यक्ष आरसीपी सिंह ने प्रशांत किशोर से जुड़ा एक दिलचस्‍प बयान दिया है.

जिसके साथ काम करते हैं, उसे दिखा देते प्रधानमंत्री बनने का सपना

आरसीपी सिंह ने कहा कि मंगलवार को व्यंग्यात्मक अंदाज में कहा कि चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर जिस दल के लिए काम करते हैं, उसके नेता को प्रधानमंत्री बनने का सपना दिखा देते हैं.बंगाल में जीत ममता बनर्जी की हुई है, नहीं कि प्रशांत किशोर की.जदयू प्रदेश कार्यालय में जिलाध्यक्षों की बैठक को संबोधित करने के बाद संवाददाताओं से बातचीत के क्रम में उन्होंने यह बात कही.

आरसीपी बोले- बिहार में प्रशांत के लिए कोई स्‍कोप नहीं

आरसीपी ने कहा कि दरअसल समाचार में बने रहने के लिए प्रशांत किशोर कुछ-कुछ बोलते रहते हैं.यह मालूम होना चाहिए कि लोकतंत्र का संचालन कंपनी से नहीं होता है. बिहार में प्रशांत के लिए कोई स्कोप नहीं.उत्तर प्रदेश (यूपी) में भाजपा के साथ मिलकर विधानसभा चुनाव लडऩे से संबंधित प्रश्न पर उन्होंने कहा कि हम पहले अपनी ताकत का आकलन करेंगे, उसके बाद ही गठबंधन पर कोई बात होगी. यह तय है कि पार्टी यूपी में विधानसभा चुनाव लड़ेगी.