Input your search keywords and press Enter.

स्वच्छाग्रही पर अरवल डीएम गर्म,संतोषजनक कार्य न करने पर उसे हटाएँ

डीबीएन न्यूज/अरवल {के कुमार “श्रवण”}-जिला पदाधिकारी सतीश कुमार के अध्यक्षता में समाहरणालय के सभाकक्ष में जिला जल स्वच्छता समिति एवं लोहिया स्वच्छता अभियान की समीक्षा की गई. उन्होंने कहा कि आपके सहयोग से जिला में 49.24 प्रतिशत घरों में शौचालय का निर्माण कार्य पूर्ण हो गया है. जिला स्तरीय सभी पंचायत नोडल पदाधिकारी को निर्देश दिये कि अपने-अपने पंचायतों में जाएं और शौचालय निर्माण की गति को तेज करें, 7420 शौचालय निर्माण कार्य पूर्ण हो जाने पर जिला में 55 प्रतिशत घरों में शौचालय निर्माण कार्य पूर्ण हो जाएगा. विभिन्न प्रखंडों में शौचालय निर्माण की गति इस प्रकार है अरवल 9286 कलेर 15587 करपी 19480 कुर्था 11344 बंसी 7692 कुल 63389 घरों में शौचालय का निर्माण कार्य पूर्ण हो चुका है. डीएम ने कहा कि जिला को दिसंबर 2018 तक पूर्ण रूप से ओडीएफ घोषित कर दिया जाएगा. इसके लिए जनप्रतिनिधियों एवं आम लोगों का भी सहयोग अपेक्षित है.

डीएम ने कहा कि जिस वार्ड में शौचालय का निर्माण 50 प्रतिशत भी पूर्ण हो चुका है वहां के लाभार्थियों को प्रोत्साहन राशि 12 हजार रुपये संबंधित बैंक खाते में स्थानांतरित करना सुनिश्चित करें. स्वेच्छेग्राहियों को भी सरकार द्वारा निर्धारित दर पर भुगतान करें. जिस स्वेच्छाग्राही का कार्यलाप संतोषजनक नहीं है उसे तत्काल हटाकर योग्य एवं अनुभवी व्यक्तियों को नियोजित करना सुनिश्चित करें. डीएम के द्वारा प्रखंड कोर्डिनेटर के कार्यों की समीक्षा की गई. किसी के द्वारा लक्ष्य के अनुरूप कार्य नहीं किया गया है. जिलाधिकारी ने इसे गंभीरता से ले लिया है और जिला जल स्वच्छता समिति को निर्देश दिया कि अयोग्य कामचोर और लापरवाह प्रखंड कोऑर्डिनेटर को अभिलंब हटाये. वर्षों से ये सभी एक ही प्रखंड में कार्यरत है. कार्य को सुचारु और ससमय करने के लिए स्थानांतरण करें. प्रखंड कोऑर्डिनेटर करपी का कार्यकलाप सबसे खराब रहा जिसको हटाने का भी निर्देश दिया.

Loading...

Widget not in any sidebars

डीएम ने अधिकारियों को निर्देश दिया कि शौचालय का निर्माण घर का समान योजना को सत प्रतिशत लागू करने के लिए आंदोलन का रूप दे. विशेष अभियान चलाकर सभी के घरों में शौचालय निर्माण कार्य करना सुनिश्चित करें. इस कार्य के लिए विकास मित्र किसान सलाहकार शिक्षक आदि को भी एक दिवसीय विशेष प्रशिक्षण देने का निर्देश दिया. स्वच्छ भारत मिशन के तहत बने हुए शौचालय का यथाशीघ्र जियोटैगिंग करने को कहा, इस योजना को लागू करने में लापरवाही करने वाले कर्मियों अधिकारियों पर तत्काल कार्रवाई की जाएगी. सुबह और शाम फलोअप करने के लिए टॉर्च, टी शर्ट,भिसिल, कैंप एवं जीविका के स्वच्छाग्रहियों के लिए साड़ी सुलभ कराने का निर्देश समिति को दिये. जो प्रखंड कोऑर्डिनेटर स्वच्छाग्रहियों का निर्धारित राशि का भुगतान नहीं करते हैं तो उनका भी भुगतान लंबित रहेगा.

बैठक में अपर समाहर्ता अशोक कुमार, जिला पंचायती राज पदाधिकारी राजेश रंजन, अनुमंडल पदाधिकारी किरण सिंह, जिला सूचना जनसंपर्क पदाधिकारी सत्येंद्र प्रसाद, जिला कोऑर्डिनेटर निलेश कुमार, कॉर्डिनेटर विक्रम विक्रांत, सभी प्रखंड विकास पदाधिकारी, सभी अंचलाधिकारी के साथ-साथ कई पदाधिकारी भी उपस्थित थे.


Widget not in any sidebars

Leave a Reply

Your email address will not be published.