Input your search keywords and press Enter.

कोरोना महामारी को लेकर रिसर्चर्स ने किया बड़ा दावा ,जल्द खत्म होगा कोरोना ,जानिए वजह

क्या कोरोना महामारी (Covid Pandemic) की मौजूदा लहर जल्द खत्म होने वाली है? अगर हालिया रिसर्च पर भरोसा करें तो इसकी पूरी संभावना है.जिस तरह से ओमीक्रोन (Omicron In Bihar) फैला, लेकिन पिछली लहरों के मुकाबला इसका प्रभाव भारत में उस तरह से नहीं दिखा, इससे महामारी का अंत करीब आने की संभावना है.ऐसा इसलिए क्योंकि वैक्सीनेशन से बड़ी आबादी में हर्ड इम्यूनिटी को बढ़ावा मिला है.जिसके चलते कोविड महामारी का उस तरह से प्रभाव इस बार नजर नहीं आया.

पटना यूनिवर्सिटी और दुनिया के दर्जनों विश्वविद्यालय के वैज्ञानिकों की रिसर्च

दुनियाभर के एक दर्जन से अधिक विश्वविद्यालयों के वैज्ञानिकों के साथ-साथ पटना विश्वविद्यालय के प्राणी विज्ञान विभाग के शिक्षकों की ओर से किए गए अध्ययन में कई अहम बातें सामने आई हैं.इसके मुताबिक, नियमित अंतराल पर यानी 6 महीने या सालभर पर बूस्टर डोज की व्यवस्था से फ्लू के साथ-साथ कोविड-19 के रोकथाम की एक अनूठी स्थिति का पता चला है.

कोरोना वैक्सीनेशन की वजह से लोगों में बढ़ी है इम्यूनिटी

इसके मुताबिक, ओमीक्रोन के ज्‍यादातर केस एसिम्‍प्‍टोमैटिक थे.इनमें हॉस्पिटलाइजेशन की जरूरत नहीं पड़ रही.ऐसे में ओमीक्रोन के बढ़ते संक्रमण के बावजूद इस महामारी के अंत के करीब आने की संभावना है.ऐसा इसलिए क्योंकि इससे बड़ी आबादी में वैक्सीनेशन की वजह से अप्रत्याशित इम्यूनिटी को बढ़ावा मिला है.

रिसर्च में इन बातों का किया गया है जिक्र

इंटरनेशनल जर्नल एनवायरमेंट रिसर्च के ताजा अंक में प्रकाशित SARSCov-2 म्यूटेशन के एक पेपर में पटना विश्वविद्यालय के गजेंद्र कुमार आजाद, परिमल कुमार खान और जीबी चंद समेत कई अंतरराष्ट्रीय यूनिवर्सिटी के रिसर्चर्स ने बड़ा दावा किया है.उन्होंने कहा कि भारत में तीसरी लहर के दौरान फैल रहे ओमीक्रोन वैरिएंट की स्पीड भले ही डेल्टा वेरिएंट से तेज नजर आ रही, लेकिन इसके उस तरह से गंभीर परिणाम नजर नहीं आ रहे.लेखकों ने रिसर्च में इसकी मुख्य वजह बड़ी आबादी का वैक्सीनेशन होना माना है.पिछली लहरों के दौरान वैक्सीनेशन की कमी से कोरोना संक्रमण का ज्यादा प्रभाव देखने को मिला था लेकिन अब टीकाकरण से इम्यूनिटी बढ़ने से महामारी का प्रभाव कम हुआ है.

बिहार में क्या है कोरोना की स्थिति

बिहार में रविवार को 5410 नए कोरोना संक्रमित मिले, इसके साथ ही सूबे में एक्टिव मरीजों की संख्या 35 हजार 508 हो गई है.सबसे अधिक एक्टिव मरीज पटना में हैं, जहां इनकी संख्या 13,182 है. इस दौरान एक्टिव केस में करीब 1.13 फीसदी की कमी दर्ज की गई है.प्रदेश में पॉजिटिविटी रेट में कुछ कमी आई है.ये 3.67 फीसदी से घटकर 3.45 फीसदी पर पहुंच गया है.