Input your search keywords and press Enter.

अश्वनी चौबे के बेटे की गिरफ्तारी को लेकर घिरी नीतीश सरकार, विपक्ष ने लगाये गंभीर आरोप


न्यूज़ डेस्क: बिहार विधानमंडल के बजट सत्र के दौरान आज शुरू होने के पूर्व राजद विधायकों ने सोमवार को सदन के बाहर जमकर प्रदर्शन और नारेबाजी की है. विधानसभा परिसर गेट के सामने प्रदर्शन करते हुए विपक्षी विधायकों ने केंद्रीय मंत्री अश्विनी चौबे और उनके बेटे अर्जित शाश्वत चौबे की गिरफ्तारी और भोजपुर में पत्रकार की हत्या को लेकर हंगामा किया.

राजद विधायक भाई वीरेंद्र के नेतृत्व में पार्टी विधायकों ने केंद्रीय मंत्री अश्विनी चौबे और उनके बेटे अर्जित शाश्वत चौबे की गिरफ्तारी की मांग करते हुए नारेबाजी की. साथ ही भोजपुर में पत्रकार की हत्या को लेकर हंगामा किया. वहीं नेता प्रतिपक्ष और राजद नेता तेजस्वी यादव ने केंद्रीय मंत्री के बेटे शाश्वत चौबे का नाम बिना नाम लिए कहा कि सीएम नीतीश कुमार को जवाब देना चाहिए कि वारंट जारी होने के बावजूद ‘वह’ खुलेआम कैसे घूम रहा है. तेजस्वी का कहना है कि सरकार पर वह नियंत्रण खो चुके हैं. यह नागपुर के इशारे पर संचालित हो रही है. यह दिखाता है कि ‘वे’ कितना कमजोर हो गये हैं.

Loading...

भाई वीरेंद्र ने आरोप लगाते हुए कहा कि भाजपा-आरएसएस और जदयू के लोग कानून से खिलवाड़ कर रहे हैं. सूबे में कोई भी आदमी सुरक्षित नहीं है. सीएम से इस्तीफे के मांग करते हुए का कि शाश्वत चौबे के खिलाफ सिर्फ वारंट जारी किया गया है. वह खुलेआम बयान दे रहे हैं. केंद्रीय मंत्री के बेटे को मदद करने का भी आरोप लगाया. कानून का राज स्थापित करने के लिए आरोपित पर कार्रवाई की जानी चाहिए. वहीं बीजेपी विधायक नितिन नवीन ने कहा कि उनकी सरकार किसी को बचाती नहीं है. अर्जित शाश्वत पर प्राथमिकी हमारी ही सरकार ने दर्ज की है. हमारी ही सरकार कार्रवाई भी करेगी. विपक्ष पर निशाना साधते हुए कहा कि ‘वह’ सरकार नहीं है, जो अपने लोगों पर प्राथमिकी भी नहीं करती थी. विपक्ष के आरोप पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि बिहार में सरकार किसी की मदद नहीं कर रही है अगर ऐसा होता तो अर्जित शाश्वत पर वारंट भी नहीं निकलता.

Leave a Reply

Your email address will not be published.