Breaking News
July 17, 2019 - अब मुखिया जी हुए पावरफुल, वाटर मैनेजमेंट के लिए मिले कई अधिकार
July 17, 2019 - इन 18 एजेंडों पर बिहार कैबिनेट में लगी मुहर
July 17, 2019 - बीजेपी खुलकर कर रहा आरएसएस का गुणगान, निखिल आनंद ने दिया ये बयान
July 17, 2019 - अब देश भर में बांधों की सुरक्षा के लिए बनेगा नया कानून
July 17, 2019 - सुशील मोदी का पलटवार, तब लालटेन पार्टी ने नाव से बाढ़ सर्वे का सुझाव क्यों नहीं दिया था
July 17, 2019 - राबड़ी देवी बोली, गठबंधन के दोनों दलों में विश्वास की कमी शुरू से ही रही
July 17, 2019 - सच्चिदानंद राय बोले, नीतीश की नीयत में शुरु से ही है खोट
July 17, 2019 - राबड़ी देवी ने नीतीश कुमार पर सही जानकारी नहीं देने का लगाया आरोप
July 17, 2019 - RSS समेत 19 हिंदू संगठनों की जानकारी जुटा रही नीतीश सरकार, बीजेपी गंभीर
July 17, 2019 - बाढ़ से पीड़ित परिवारों को छः हजार रूपये की मदद देगी नीतीश सरकार

MY से आगे बढ़ी राजद, मछुआरा समाज को लुभाने के लिए बनाया यह प्लान

शेयर कर और लोगों तक पहुंचाए

ram chandra purwe

हितेश कुमार. राजद कार्यालय में आयोजित पत्रकार सम्मेलन को संबोधित करते हुए पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष डाॅ. रामचन्द्र पूर्वे एवं प्रधान महासचिव आलोक कुमार मेहता ने कहा कि सदियों से उपेक्षित मछुआरा समाज के लोगों को राजद शासनकाल में लालू जी ने उन्हें राजनीति के मुख्य धारा में लाने का काम किया. मछुआरा समाज के लोगों के आर्थिक और समाजिक उत्थान के लिए राजद शासनकाल में अनेक प्रभावकारी कदम उठाये गये. और यही वजह है कि मछुआरा समाज के लोगों का विश्वास और समर्थन राजद को मिलता रहा है.

राजद शासनकाल के बाद मछुआरा लोगों के नाम पर राजनीति तो बहुत हो रही है पर व्यवहारिक रूप से उन्हें उपेक्षित छोड़ दिया गया है. आज उनके बीच जागरूकता पैदा करने की आवश्यकता महसूस की जा रही है. इसी परिपेक्ष्य में शहीद जुब्बा सहनी राजनैतिक जागरूकता मंच एवं राजद के मत्स्यजीवी प्रकोष्ठ के संयुक्त तत्वाधान में आगामी 31 मार्च, 2018 को श्रीकृष्ण मेमोरियल हाॅल में अमर शहीद जुब्बा सहनी की 74वीं शहादत पखवाड़ा मनाने का निर्णय लिया गया है. पार्टी के मत्स्यजीवी प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष अरविन्द कुमार सहनी को सम्मेलन तैयारी समिति का संयोजक बनाया गया है.

इस अवसर पर सहनी ने कहा कि राजद शासनकाल मछुआरा समाज के लिए स्वर्णिम काल था. उनके मुख्य आर्थिक स्त्रोत नदी और तालाबों के लिए भी ठेकेदारी प्रथा समाप्त कर बहती जलधारा को लगने वाले राजस्व से मुक्त किया गया. मछुआरों के आदर्श पुरूष अमर शहीद जुब्बा सहनी के नाम पर मुजफ्फरपुर में चार एकड़ जमीन में शहीद जुब्बा सहनी पार्क का निर्माण कराया गया. बिहार के सबसे बड़े झील बरैला का नामाकरण शहीद जुब्बा सहनी पक्षी विहार के नाम पर किया गया. सहनी ने कहा कि लालू प्रसाद और राबड़ी देवी के शासनकाल में मछुआरा समाज राजनीति के मुख्य धारा से जुड़े.

मछुआरा समाज से आने वाले कैप्टन जयनारायण निषाद को पहली बार केन्द्र में मंत्री बनवाया. लालू जी ने प्रो. रामदेव भंडारी, विद्या सागर निषाद, रामाश्रय सहनी, अजीत चैधरी, महेन्द्र सहनी, रामकरण सहनी, रामावतार चैधरी, पुणेशर मंडल, विश्वनाथ सिंह निषाद, रामचन्द्र सिंह निषाद सहित अनेक लोगों को मंत्री, सांसद और विधायक बनायें. सहनी ने बताया कि उक्त सम्मेलन में बिहार के कोने-कोने से बड़ी संख्या में निषाद समाज के लोगों की भागीदारी होगी.

सम्मेलन का उद्घाटन नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी प्रसाद यादव करेंगे. सम्मेलन में मुख्य अतिथि के रूप में पूर्व केन्द्रीय मंत्री डाॅ. रघुवंश प्रसाद सिंह, जयप्रकाश नारायण यादव, प्रदेश अध्यक्ष डाॅ. रामचन्द्र पूर्वे, बिहार सरकार के पूर्व मंत्री तेजप्रताप यादव, आलोक कुमार मेहता, शिवचन्द्र राम एवं राष्ट्रीय प्रधान महासचिव एसएम कमर आलम एवं सांसद शैलेश कुमार उर्फ बुलो मंडल सहित राजद के अनेक वरीय नेता उपस्थित रहेंगे पत्रकार सम्मेलन में पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता चितरंजन गगन, मत्स्यजीवी प्रकोष्ठ के प्रदेश उपाध्यक्ष ओमप्रकाश चौधरी एवं रामेश्वर चौधरी भी उपस्थित थे.

शेयर कर और लोगों तक पहुंचाए

About author

Leave a reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *