Input your search keywords and press Enter.

उपेन्द्र कुशवाहा के साथ बदसलूकी के विरोध में रालोसपा का राजभवन मार्च

हितेश कुमार,पटना: चंपारण सत्याग्रह समापन समारोह कार्यक्रम में शिरकत करने जा रहे केंद्रीय राज्य मंत्री उपेंद्र कुशवाहा के साथ हाजीपुर में हुए बदसलूकी के विरोध में पटना के जेपी गोलंबर से राष्ट्रीय लोक समता पार्टी ने राजभवन मार्च का आयोजन किया है. जिस से निपटने के लिए जिला प्रशासन के द्वारा तमाम इंतजामात कर लिए गए हैं.

पर्याप्त मात्रा में सुरक्षा बल, मजिस्ट्रेट और पुलिस के कई पदाधिकारी की तैनाती JP गोलंबर के पास किया गया है. सैकड़ों की संख्या में कार्यकर्ताओं के शामिल होने का अनुमान बताए बताया गया है. बताया गया है कि यह राजभवन मार्च का नेतृत्व राष्ट्रीय लोक समता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष केंद्रीय राज्यमंत्री उपेंद्र कुशवाहा स्वयं करेंगे.

Loading...

केंद्र और राज्य सरकार के सत्ता में शामिल होने के बावजूद उपेंद्र कुशवाहा की पार्टी रालोसपा को सड़क पर उतर कर विरोध प्रदर्शन की जरूरत क्यों पड़ी? क्या सरकार द्वारा एनडीए के घटक दल रालोसपा की अनदेखी की जा रही है? क्या रालोसपा अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाहा मांगों को अनसुना किया जा रहा है? इन सभी मुद्दों फिलहाल रालोसपा के कोई भी कार्यकर्ता कुछ भी कहने के कतरा रहे हैं. उधर पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी के महागठबंधन में शामिल होने के बाद उपेंद्र कुशवाहा के बी महागठबंधन में शामिल होने के कयास तेज हो गए थे.

लेकिन पिछले दिन में पटना के ज्ञान भवन में दलित सेना के आयोजित कार्यक्रम में उपेंद्र कुशवाहा ने मीडिया पर तंज कसते हुए कुशवाहा ने कहा था कि जो चीज हमें जानकारी नहीं होता है उसकी जानकारी मीडिया को पहले हो जाता है. अब देखने वाली बात यह होगी कि केंद्र सरकार के मंत्रिमंडल के सहयोगी और राज्य सरकार के गठबंधन में शामिल रालोसपा का मार्च राजभवन पहुंच पाता है या प्रशासन उन्हें बीच में ही रोकने में सफल होती है.



Widget not in any sidebars

Leave a Reply

Your email address will not be published.