Breaking News
December 12, 2018 - लालू निकलना चाहते हैं बाहर
December 12, 2018 - कृषि विभाग में निकली बंपर बहाली
December 12, 2018 - महागठबंधन में यह फार्मूला आया सामने
December 12, 2018 - तेज प्रताप भी जीत से उत्साहित
December 12, 2018 - हार के अगले दिन बिहार में योगी
December 12, 2018 - बिहार से बाहर जदयू के सभी प्रयासों का हुआ बुरा हाल
December 12, 2018 - महागठबंधन में बड़े भाई और छोटे भाई पर बिगड़ी बात
December 12, 2018 - लोस के शीत सत्र में सुपौल की कांग्रेस सांसद ने इन मुद्दों को ले दी स्थगन प्रस्ताव नोटिस
December 12, 2018 - वसुंधरा राजे सरकार के 30 में से 20 मंत्री चुनाव हार गए, बेटे को टिकट दिलवाया वो भी हार गये
December 11, 2018 - मुख्यमंत्री ने समाजवादी नेता स्व0 राम अवधेष चैधरी के श्राद्धकर्म में भाग लिया

RLSP की NDA से हो सकती है विदाई, इधर, वेलकम के लिए महागठबंधन है तैयार

शेयर कर और लोगों तक पहुंचाए

लोकसभा चुनाव के लिए एनडीए में सीटों को लेकर मची खींचतान अब खत्म होने के बजाय और भी बढ़ गयी है. एनडीए ने सीट शेयरिंग का नया फार्मूला तय कर लिया है. सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक कहा जा रहा है कि रालोसपा प्रमुख उपेंद्र कुशवाहा की एनडीए से छुट्टी हो सकती है. इधर, महागठबंधन के नेता उनके वेलकम के लिए तैयार दिख रहे हैं.

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक भाजपा और जदयू तय सीटों के मुताबिक 17-17 सीटों पर चुनाव लड़ेगी. वहीं, रामविलास पासवान की पार्टी लोजपा को छह सीटें दी जाएंगी. इस प्रस्तावित फॉर्मूले के मुताबिक आरएलएपी को एनडीए से बाहर जाना होगा. ऐसे में कुशवाहा महागठबंधन में दाखिल हो सकते है, लेकिन इस बात को लेकर अभी अधिकारिक पुष्टि नहीं किया गया है.

मालूम हो कि उपेंद्र कुशवाहा की पार्टी, रालोसपा ने अभी अपना रूख साफ नहीं किया है कि वो क्या करेंगे? लेकिन, अब उनके महागठबंधन में जाने के पूरे आसार नजर आ रहे हैं. शरद यादव से मुलाकात के बाद रालोसपा ने नई रणनीति तैयार की है जिसके तहत अब कुशवाहा की पार्टी महागठबंधन का हिस्सा हो सकती है.

विदित हो कि महागठबंधन की तरफ से काफी समय से उपेंद्र कुशवाहा को आमंत्रण दिया जा रहा है. एक बार फिर से महागठबंधन के नेता और पूर्व विधानसभा अध्यक्ष उदय नारायण चौधरी ने कुशवाहा के महागठबंधन में आने की खबर पर कहा कि महागठबंधन में ही उपेंद्र कुशवाहा को सम्मान मिलेगा हम उन्हें फिर से आमंत्रण दे रहे हैं. उन्होंने कहा कि अगर कुशवाहा हमारे साथ आते हैं तो उनके लिए विकल्प खुला है.

इतना ही नहीं उदयनारायण चौधरी ने कहा कि उपेंद्र कुशवाहा जिस लड़ाई के लिए आवाज उठाते हैं महागठबंधन का शुरू से ही वही स्टैंड रहा है. हम दलित, अल्पसंख्यक, गरीबों की आवाज उठाते रहे हैं. कुशवाहा अगर महागठबंधन में शामिल होने का फैसला लेते हैं तो यहां उनके लिए एनडीए से ज्यादा सम्मान मिलेगा.

अपनी ताकत को बताते हुए कुशवाहा ने ज्यादा सीटें मांगी थीं और इसके बाद वो लगातार अमित शाह से मिलने की कोशिश करते रहे लेकिन बीजेपी अध्यक्ष ने उन्हें वक्त नहीं दिया. वहीं, सीएम नीतीश द्वारा ‘नीच’ प्रकरण के बाद से कुशवाहा लगातार नीतीश पर हमला बोल रहे थे. ऐसे में ये माना जा रहा है कि एनडीए ने उन्हें अलग करने का मन बना लिया है.

शेयर कर और लोगों तक पहुंचाए

About author

Related Articles