Input your search keywords and press Enter.

विद्यालय में चापाकल महीनों से चापाकल खराब,एमडीएम बन्द,स्कूली बच्चे पानी पीने पढाई के दौरान जाते हैं घर

डीबीएन न्यूज/बिहटा(पंक दुबे)-बिहटा प्रखंड के नेऊरा थाना अंतर्गत राजपुर गाँव के प्राथमिक विद्यालय में चापाकल महीनों से बंद पड़ा है. इस विद्यालय में बच्चे पीने का पानी के लिए तरस रहे हैं.

इस बाबत जब विद्यालय प्रभारी से बात की गयी तो उनका कहना है कि हमने इसकी सूचना उपर के पदाधिकारियों को दे दी है. लेकिन अभी तक कोई निदान नहीं निकल पाया है. उपर से जवाब मिलता है कि अगल-बगल से मदद लेकर काम चलाइए.

Loading...

Widget not in any sidebars

इस विद्यालय में पानी न रहने के वजह से मिडडे मील नहीं बन पा रहा है. वहीं बच्चे को जब प्यास लगती है तो वे पानी पीने को अपने घर चले जाते हैं. अब सोचिए कि आखिर इस विद्यालय में पढ़ाई कैसे होती होगी. यह विद्यालय एकमात्र विद्यालय नहीं है जहाँ पानी की व्यवस्था न हो.

आखिर सरकारी विद्यालय में पढ़ने वाले बच्चों को पानी पीने का हक है या नहीं. काश ! इन विद्यालय में किसी नेता, विधायक, सांसद, मंत्री या अफसर के बच्चे पढ़ रहे होते तो पानी के लिए समरसेबल बोरिंग और वाटर प्यूरीफायर मशीन लग जाता.


Widget not in any sidebars

Leave a Reply

Your email address will not be published.