Input your search keywords and press Enter.

अगर मोदी या नीतीश सरकार मान ले इस सब इंस्पेक्टर की बात तो विकास कभी नहीं होगा पागल!

Pawan kumar singh
Pawan kumar singh

file pic

अगर भारत सरकार या राज्य सरकार मुझे कुछ मांगने के लिए बोले तो मैं बस यही मांगूंगा कि किसी भी तरह के मुफ्त अनुदान के स्वरूप को बदल दिया जाय जैसे कन्या विवाह योजना, वृधा पेंशन योजना आदी. इस तरह की योजनाओं को वृक्षारोपण के कार्यक्रम से जोड़ देना चाहिए. पेड़ लगावो और उसको पंजिकृत कराओ और लड़की के शादी के उम्र में और पेंसन लेने के उम्र मे पेड़ दिखाओं और उतना पैसे पाअो..

ठीक उसी तरह अन्य मुफ्त अनुदान वाले योजनाओं के लिए भी कुछ न कुछ ऐसा कार्य अनुदान प्राप्त व्यक्ति के लिए किया जाना चाहिए. ऐसे लोगों के लिए समाजिक कार्य अनिवार्य कर देना चाहिए जीससे समाज के करदाता को ये लगे की उसका टैक्स के पैसा का सही उपयोग हुआ है ज़िसका प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष लाभ उसे भी मिला है. सरकार द्वारा ठगा नहीं गया है!

Loading...

जिस दिन इन बातों को अमली ज़ामा पहनाया जाएगा सही माएने में भारत का विकास उसी दिन से शुनिश्चित हो जयगा …और हर हाथ को काम मिल जाएगा और तब यह नारा सबका साथ सबका विकास भी खुद ही सार्थक हो जाएगा.

पवन कुमार
सब-इंस्पेक्टर
मुंगेर, बिहार

नोट: अगर मेरे विचार सही है तो बातें इतनी आगे जानी चाहिए कि कल के कल इसपर कानुन बन जाने चाहिए कि टैक्स से प्राप्त पैसे का उपयोग मुफ्त अनुदान के लिए नहीं होनी चाहिए अगर हो तो उसका प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष लाभ करदाता को भी मिलना चाहिए ….


इस न्यूज़ को शेयर करे तथा कमेंट कर अपनी राय दे.
[shareaholic app=”share_buttons” id=”18820564″]

Leave a Reply

Your email address will not be published.