Input your search keywords and press Enter.

राज्यस्तरीय कौशल प्रतियोगिता पटना में हुई शुरू, सुशील मोदी ने कहा

राज्यस्तरीय कौशल प्रतियोगिता के उद्धाटन सत्र को सम्बोधित करते हुए उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कहा कि प्रधानमंत्री के ‘स्किल इंडिया’ का सपना ‘स्किल बिहार’ के बिना पूरा नहीं हो सकता है. बिहार की आधी आबादी (15-65 आयुवर्ग) कार्यशील है। इनमें 15-30 आयुवर्ग के युवाओं की संख्या 2 करोड़ से ज्यादा है.

कभी अधिक आबादी अभिशाप माना जाता था मगर इस समय बिहार की कार्यशील आबदी बिहार सहित पूरे देश के लिए वरदान है. देश के दक्षिण-पश्चिम के राज्यों में कार्यशील आबादी की संख्या तेजी से घट रही है. अगर बिहार के युवा उन राज्यों में नहीं जाएं तो उनका विकास कार्य बाधित होगा. बिहार को अपनी इस कार्यशील आबादी का लम्बे समय तक लाभ मिलेगा.

Loading...

कार्यक्रम में मौजूद लोगों को सम्बोधित करते हुए मोदी ने कहा कि बिहार के इन्हीं युवा आबादी को हूनरमंद बनाने के लिए सरकार ने हर जिले में पाॅलिटेक्निक संस्थान, महिला आईटीआई, प्रत्येक अनुमंडल में आईटीआई तथा प्रखंडों में एक से अधिक प्रशिक्षण केन्द्र खोलने का निर्णय लिया है. पिछले वर्ष राज्य में 9 महिला आईटीआई के साथ 18 नए आईटीआई खोले गए हैं.

फिलहाल सरकारी क्षेत्र में 30 महिला आईटीआई के साथ 121 आईटीआई कार्यरत है। युवाओं के प्रशिक्षण के लिए राज्य सरकार के 15 विभागों के अन्तर्गत 107 पाठ्यक्रम निर्धारित किए गए हैं. पूरे राज्य में 1638 केवाईपी प्रशिक्षण केन्द्र के जरिए युवाओं में कौशल विकास किया जा रहा है. सरकार की सोच है कि युवाओं के हाथ में अगर हूनर होगा तो उन्हें देश में कहीं भी रोजी-रोटी कमाने से कोई रोक नहीं सकता है.


Widget not in any sidebars

Leave a Reply

Your email address will not be published.