Input your search keywords and press Enter.

अंबेडकर जयंती की पूर्व संध्या पर मोदी ने एससी-एसटी एक्ट को लेकर किया बड़ा ऐलान

sushil modi

एससी-एसटी एक्ट को लेकर विपक्ष के हंगामे और विरोध के बाद बीजेपी साफ सन्देश देना चाहती है कि वह इस कानून में बदलाव के पक्ष में नहीं है. सुशील मोदी ने भाजपा अनुसूचित जाति मोर्चा की ओर से एसकेएम सभागार में आयोजित डॉ. भीमराव रामजी अंबेडकर जयंती की पूर्व संध्या पर आयोजित समारोह में कहा कि बीजेपी एससी-एसटी एक्ट को कमजोर नहीं होने देगी.

सुप्रीम कोर्ट ने अगर सरकार की पुनर्विचार याचिका नहीं सुनी तो पीएम मोदी की सरकार अध्यादेश लाकर कानून को अक्षुण्ण रखेगी. भाजपा किसी भी सूरत में कानून को कमजोर या शिथिल नहीं होने देगी. बिहार के उप मुख्यमंत्री सुशील मोदी ने यह घोषणा शुक्रवार को भाजपा अनुसूचित जाति मोर्चा की ओर से एसकेएम सभागार में आयोजित डॉ. भीमराव रामजी अंबेडकर जयंती की पूर्व संध्या पर आयोजित समारोह में की.

Loading...

सुशील मोदी ने एससी-एसटी के हित में पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी सरकार से लेकर मौजूदा भाजपा सरकार द्वारा लिए गए निर्णय और शुरू की गई कल्याणकारी योजनाएं भी गिनाईं. कहा कि संविधान में अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति को दिया गया आरक्षण कोई नहीं छीन सकता.

उन्‍होंने कहा कि 1979 में बने एससी-एसटी अत्याचार निवारण कानून में पहली जनवरी 2016 को नरेंद्र मोदी सरकार ने संशोधन कर पहले की तुलना में इसे और ज्यादा मजबूत, प्रभावी और कठोर बना दिया है। एससी-एसटी संशोधन के बाद मिले अधिकार पर मोदी ने विस्तार से प्रकाश डाला. बकौल सुशील मोदी, प्रमोशन में आरक्षण के मामले को सुप्रीम कोर्ट में केंद्र सरकार ने मजबूती से अपना पक्ष रखा है. उन्होंने कहा कि जबतक एससी-एसटी को समाज में समानता नहीं मिल जाती तब तक आरक्षण जारी रहेगा, चाहे 200 वर्ष क्यों नहीं लग जाए.


Widget not in any sidebars

Leave a Reply

Your email address will not be published.