Breaking News
December 12, 2018 - लालू निकलना चाहते हैं बाहर
December 12, 2018 - कृषि विभाग में निकली बंपर बहाली
December 12, 2018 - महागठबंधन में यह फार्मूला आया सामने
December 12, 2018 - तेज प्रताप भी जीत से उत्साहित
December 12, 2018 - हार के अगले दिन बिहार में योगी
December 12, 2018 - बिहार से बाहर जदयू के सभी प्रयासों का हुआ बुरा हाल
December 12, 2018 - महागठबंधन में बड़े भाई और छोटे भाई पर बिगड़ी बात
December 12, 2018 - लोस के शीत सत्र में सुपौल की कांग्रेस सांसद ने इन मुद्दों को ले दी स्थगन प्रस्ताव नोटिस
December 12, 2018 - वसुंधरा राजे सरकार के 30 में से 20 मंत्री चुनाव हार गए, बेटे को टिकट दिलवाया वो भी हार गये
December 11, 2018 - मुख्यमंत्री ने समाजवादी नेता स्व0 राम अवधेष चैधरी के श्राद्धकर्म में भाग लिया

सुशील मोदी पर फिर पलटवार, DNA वाले बयान पर कहाँ थे

शेयर कर और लोगों तक पहुंचाए

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के सपोर्ट में खड़ा हुए सुशील मोदी को रालोसपा ने करारा जवाब दिया है. रालोसपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता माधव आनंद ने सुशील मोदी पर कड़ी प्रतिक्रिया जाहिर की है. माधव आनंद ने सीएम के बचाव में माननीय उपमुख्यमंत्री जी को जवाब देते हुए जोरदार हमला बोल पूर्व की स्थिति को याद दिलाया है.

माधव ने अपने ट्वीट में लिखा है कि ” माननीय सुशील मोदी जी आज आप शब्द और उसके भावार्थ की सफ़ाई देने में बिना फीस के वकील बने हैं लेकिन काश!आपनें नरेंद्र मोदी जी द्वारा दुसरे संदर्भ में प्रयोग किये गये DNA वाले बयान को भी नीतीश कुमार जी और बिहार की जनता को समझा दिया होता तो 2015 में NDA की स्थिति थोड़ी अच्छी होती.”

बता दें कि इससे पहले माधव आनंद ने कहा कि माननीय उपमुख्यमंत्री जी, बिहार की जनता को इतना भी अज्ञानी ना समझे कि किसी वक्तव्य के पीछे छिपे भावार्थ को ना समझ पाएं और आपसे करबद्ध निवेदन हैं कि बिना फीस के वकील बनना छोड़कर कभी बिहार की जनता पर भी ध्यान दे दें तो उनकी समस्याओं का निवारण हो जायें.

बता दें कि सुशील मोदी ने नीतीश कुमार के समर्थन में ट्वीट कर बिहार की राजनीतिक तापमान को बड़ा दिया था:

सुशील मोदी ने नीतीश के सपोर्ट में लिखा था कि, नीतीश कुमार ने कभी किसी नेता के बारे ‘नीच’शब्द का प्रयोग नहीं किया है. मैं उस कार्यक्रम में मौजूद था. जान बूझ कर कुछ लोग शहीद बन ने की कोशिश कर रहें हैं. परंतु उन्हें सफलता नहीं मिलेगी.

शेयर कर और लोगों तक पहुंचाए

About author

Related Articles