Input your search keywords and press Enter.

जेपी की प्रतिमा पर माल्यार्पण करने पहुचें तेजप्रताप यादव

लालू प्रसाद यादव के बड़े बेटे तेजप्रताप यादव ने सोमवार को जनशक्ति यात्रा की शुरूआत की. यात्रा शुरू करने के पहले तेजप्रताप यादव ने गांधी मैदान के समीप लगी जेपी (JP) की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया. इस दौरान तेजप्रताप यादव के उनके समर्थकों और उनके संगठन के लोग भी मौजूद रहे. जनशक्ति यात्रा करने के दौरान तेजप्रताप ने कहा कि देश एक बार फिर से बुरे दौर से गुजर रहा है, इसलिये हम जेपी के पद चिन्हों पर चल रहे हैं. चारो तरफ अराजकता फैली है, छात्रों के साथ अन्नाय हो रहा है. इस यात्रा के माध्यम से हम सरकार को जगाने का काम कर रहे हैं.

बताया जाता है कि जनशक्ति यात्रा की शुरुआत करने से पहले तेजप्रताप यादव अपनी मां राबड़ी देवी से मिलने उनके घर जाने वाले थे. मिली जानकारी के अनुसार तेजप्रताप यादव अपने घर से निकलकर राबड़ी देवी के सरकारी आवास के तरफ पहुंचे लेकिन मां से मिले बगैर वो अपनी जनशक्ति यात्रा पर निकल गए. अपनी जनशक्ति यात्रा के दौरान तेजप्रताप यादव पैदल मार्च करते रहे. तेजप्रताप की इस यात्रा को हाल ही उनके भाई तेजस्वी यादव से मनमुटाव और आरजेडी में उनकी नजरंदाजगी से भी जोड़ा जा रहा है. तेज प्रताप ने कहा कि जेपी जयंती से अच्छा मौका नहीं मिलता इसलिए भ्रष्टाचार, अशिक्षा, स्वास्थ्य सुविधाओं में गिरावट के खिलाफ मैंने क्रांति का आगाज करने का निर्णय लिया है, इसका नाम एलपी मूवमेंट रहेगा.

उन्होंने कहा कि किसान भाइयों के साथ अत्याचार हुआ है, यूपी के लखीमपुर खीरी में यह सब मुद्दा रहेगा. उन्होंने तेजस्वी यादव और आरजेडी नेताओं को इस शांति मार्च में हिस्सा लेने के लिए आमंत्रित किया. तेज प्रताप ने कहा कि पार्टी में ऐसे बहुत से लोग हैं जो मुझसे जलते हैं. उन्होंने साफ कहा कि मुझे उपचुनाव से मतलब नहीं. लेकिन कांग्रेस और आरजेडी में जो हुआ गलत हुआ. मुझसे इस मुद्दे पर कोई सलाह नहीं ली गयी जबकि मुझसे पूछा जाता तो मैं उन्हें सही सलाह देता.