Input your search keywords and press Enter.

रघुवंश प्रसाद सिंह की पुण्यतिथि पर भड़के तेजस्वी, पूछा- जब अरुण जेटली की मूर्ति लग सकती है, तो…

पूर्व केंद्रीय मंत्री और आरजेडी के कद्दावर नेता रघुवंश प्रसाद सिंह की आज पहली पुण्यतिथि है. पिछले साल 13 सितंबर को ही लंबी समय तक बीमारी से जूझने के बाद उनका निधन हो गया था. उनके निधन के बाद बिहार के सियासी गलियारों में शोक की लहर दौड़ गई थी.

 

ऐसे में उनकी पहली पुण्यतिथि पर राज्य भर में जगह-जगह श्रद्धांजलि सभा का आयोजन किया गया है. इसी क्रम में बिहार के मुजफ्फरपुर जिले में आयोजित एक कार्यक्रम में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव समेत अन्य नेता शामिल हुए. श्रद्धांजलि सभा में शिरकत करने पहुंचे तेजस्वी यादव ने कहा कि जब बिहार में पूर्व केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली की मूर्ति लग सकती है, तो फिर यहां रघुवंश प्रसाद और रामविलास पासवान की मूर्ति क्यों नहीं लग रही है.

मालूम हो कि तेजस्वी यादव लगातार बिहार के दोनों नेताओं की मूर्ति राजधानी पटना में लगाने की मांग कर रहे हैं. साथ ही दिवंगत नेताओं की पुण्यतिथि और जयंती को राजकीय कार्यक्रम घोषित करने की मांग उन्होंने रखी है.

बता दें कि जिले के पुलिस लाइन चौक स्थित विवाह भवन में आयोजित कार्यक्रम में केंद्रीय मंत्री और बीजेपी (BJP) नेता अश्विनी चौबे भी शामिल होने पहुंचे थे. कार्यक्रम में पहुंचे केंद्रीय मंत्री अश्विनी चैबे ने भजन गाकर रघुवंश प्रसाद को श्रद्धांजलि दी.

वहीं, तेजस्वी यादव का नाम लिए बगैर कहा कि यह मंच इस तरह की बातों को उठाने के लिए नहीं है. बता दें कि कार्यक्रम में अश्विनी चौबे, प्रतिपक्ष के नेता तेजस्वी यादव समेत अब्दुल बारी सिद्दकी, श्याम रजक समेत जिले के सभी दल के विधायक और राजनेता शामिल हुए थे. इस दौरान नेताओं ने रघुवंश प्रसाद की विचारधारा और उनकी उपलब्धियों की चर्चा की.