Input your search keywords and press Enter.

NDA पर भड़के तेजस्वी, कहा- महंगाई को डायन बताने वाले इसे महबूबा समझ बैठे!

एनडीए सरकार के सौजन्य से देश में महंगाई एक भीषण समस्या बन चुकी है. डबल इंजन की सरकार ने भीष्म प्रतिज्ञा ली है कि खाद्य पदार्थों, पेट्रोल-डीजल और गैस सिलेंडर की कीमतें बढ़ाकर आम लोगों को भूखा मार देंगे. यह बातें नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने बयान जारी कर कहा है.

 

उन्होंने कहा क महंगाई को डायन बताने वाले आज इसे महबूबा समझ इससे चिपके बैठे है. सरकार में बैठे लोग महंगाई रूपी प्रियतमा को दूर कर ही नहीं पा रहे हैं. इस दौरान तेजस्वी यादव ने केंद्र की मोदी सरकार और उसके विभाग पर भी निशाना साधा. उन्होंने कहा कि केंद्र और बिहार की डबल इंजन सरकार की पूंजीपरस्त जनविरोधी नीतियों की मार ने निम्न व मध्यम वर्ग की कमर तोड़ दी है.

खाद्य पदार्थों, खाद्य तेल के दाम तो आसमान छू ही रहे थे, खाना खरीदने के साथ-साथ खाना पकाना भी महंगा हो गया है. पिछले आठ महीनों में रसोई गैस के दाम 190 रुपये तक बढ़ गए हैं. दो हफ्तों में दो बार रसोई गैस के कीमत बढ़ाए गए. ऐसा प्रतीत होता है कि मोदी सरकार और उसके विभाग कमर कस कर बैठ चुके हैं गरीबों का जीना मुहाल कर के दम लेंगे.

तेजस्वी ने कहा कि केंद्र सरकार ने उज्ज्वला योजना के खूब कसीदे पढ़े, खूब महिमामंडन किया, भावुकता का चोगा पहन पहन कर स्वघोषित निर्धनता उन्मूलन के पुरोधा होने का दावा किए. क्या आज इस सरकार में हिम्मत है कि गांव-गांव जाकर उज्ज्वला योजना की समीक्षा करे और देश को इसकी वास्तविकता बताए? आज गरीबों के घर में पड़े खाली एलपीजी सिलेंडर मुंह चिढ़ा रहे हैं.

तेजस्वी यादव ने कहा कि जब 2014 में 384 रुपये सिलेंडर था तो कंधे पर ढो-ढोकर प्रदर्शन करने वाले लोग आज एक हजार हो जाने पर भी चुप हैं. हर तरफ महंगाई से गरीबों और मध्यम वर्ग की जेबों पर डाका पड़ ही रहा था, रसोई गैस की कीमतों ने अब पेट पर लात मार दी है. महंगाई, बेरोजगारी और भुखमरी को लेकर सड़क से लेकर सदन तक हमारा संघर्ष जारी रहेगा. हम आम आदमी की लड़ाई लड़ते रहेंगे.