Input your search keywords and press Enter.

तेजस्वी यादव ने अपने बड़े भाई तेजप्रताप यादव को जनशक्ति यात्रा के लिए शुभकामना दी

लोकनायक जय प्रकाश की जयंती के मौके पर समस्‍तीपुर के हसनपुर से राजद के विधायक तेजप्रताप यादव ने आज पटना में जनशक्ति यात्रा निकाली.गांधी मैदान से वाहनों के काफिले के साथ वह जेपी गोलंबर पहुंचे.इससे पहले उन्‍होंने अपने छोटे भाई तेजस्वी यादव को भी यात्रा में शामिल होने के लिए आमंत्रित किया और कहा कि उनका इंतजार रहेगा.उन्‍होंने इस खास आयोजन को अपने पिता लालू प्रसाद यादव के नाम से जोड़ा है.बावजूद इसके तेजस्‍वी और राजद की ओर से इस पर कोई कोई प्रतिक्रिया नहीं दी गई.इस दौरान वे अपनी मां राबड़ी देवी के आवास के ठीक सामने से गुजरे, लेकिन मां से नहीं मिले.राबड़ी रविवार को ही पटना आई थीं और सबसे पहले तेज प्रताप से मिलने उनके आवास पर गई थीं, हालांकि दोनों के बीच मुलाकात अब तक नहीं हो सकी है.

तेज प्रताप के आवास पर जाकर लौट गई थीं राबड़ी देवी

ने कहा कि जेपी आंदोलन की तरह वह एलपी (लालू प्रसाद) आंदोलन भी करने जा रहे हैं.राबड़ी देवी से जुड़े सवाल पर तेज प्रताप यादव ने कहा कि जल्द ही वे अपनी मां से मुलाकात करेंगे, उनसे आशीर्वाद लेने जाएंगे.रविवार को पटना आने के बाद राबड़ी देवी सीधे तेज प्रताप यादव के आवास पर गईं, लेकिन मां-बेटे के बीच मुलाकात नहीं हो सकी. बताया जा रहा है कि तब तेज प्रताप अपने सरकारी आवास पर मौजूद नहीं थे.काफी देर इंतजार के बाद भी मुलाकात नहीं होने पर राबड़ी अपने आवास पर लौट गई थीं.

अपनी ताकत दिखाने की कोशिश में जुटे तेज प्रताप

लालू परिवार और राजद में साइड कर दिए गए तेज प्रताप us जनशक्ति यात्रा के बहाने आज पटना की सड़कों पर अपनी ताकत दिखाने की कोशिश की.राजद की बैठकों और कार्यक्रमों में अब उन्‍हें बुलाया तक नहीं जा रहा.कुछ दिनों से राजद के प्रदेश कार्यालय में भी जाना उन्‍होंने छोड़ दिया है.राजद के राष्‍ट्रीय उपाध्‍यक्ष शिवानंद तिवारी ने कह दिया था कि तेज प्रताप ने खुद ही अपना रास्‍ता पार्टी से अलग चुन लिया है. उन्‍हें पार्टी का चुनाव चिह्न इस्‍तेमाल करने से मना किया गया है और यह बात उन्‍होंने खुद ही स्‍वीकार की है.इससे पहले राजद के प्रदेश अध्‍यक्ष जगदानंद सिंह ने ‘तेज प्रताप कौन है’ कहकर खलबली मचा दी थी.