Input your search keywords and press Enter.

बीजेपी मंत्री को कटघरे में खड़ा कर फंसे तेजस्वी, मिला लीगल नोटिस

बिहार के मुजफ्फरपुर स्थित बालिका गृह में हुए यौन उत्पीड़न के मामले में अब क़ानूनी जंग शुरू हो चुकी है. मामला तेजस्वी यादव द्वारा बीजेपी कोटे के मंत्री सुरेश शर्मा पर लगाये गये आरोप का है. बिहार सरकार में नगर विकास मंत्री सुरेश शर्मा ने तेजस्वी द्वारा लगाये गये आरोपों के खिलाफ पूर्व उपमुख्यमंत्री और आरजेडी नेता तेजस्वी यादव को लीगल नोटिस भेजा है.

नगर विकास मंत्री की ओर से पटना हाईकोर्ट के वकील अभय शंकर सिंह ने शनिवार को नोटिस भेजा है. नोटिस में कहा गया है कि तेजस्वी 24 घंटे के भीतर अपने बयान को वापस लें, नहीं तो उनके खिलाफ मुकदमा दायर किया जाएगा.

Loading...

क्या पूरा मामला:

मुजफ्फरपुर दौरे से लौटने के बाद तेजस्वी यादव ने इशारों ही इशारों में सुरेश शर्मा पर निशाना साधा था. तेजस्वी यादव ने पूछा था कि कौन है ये मूंछ और पेट वाला अंकल, सरकार बताए. आखिर मासूम बच्चियों के गुनाहारगारों को सरकार क्यों बचा रही है. तेजस्वी यादव ने बीजेपी से मंत्री सुरेश कुमार की तरफ इशारा करते हुए उन पर कार्रवाई करने की मांग की थी.

तेजस्वी के आरोप का मंत्री सुरेश शर्मा ने खंडन करते हुए कहा था कि इस मामले में मेरी कहीं संलिप्ता नहीं है. मैं बालिका अल्पवास गृह में कभी नहीं गया और मैं तो जानता तक नहीं कि ये सेंटर कहां है. उन्होंने कहा कि अगर मैं दोषी पाया जाउंगा तो अपने पद से इस्तीफा दे दूंगा लेकिन अगर आरोप सिद्ध नही हुआ तो तेजस्वी को इस्तीफा देना होगा.