Breaking News
December 12, 2018 - लालू निकलना चाहते हैं बाहर
December 12, 2018 - कृषि विभाग में निकली बंपर बहाली
December 12, 2018 - महागठबंधन में यह फार्मूला आया सामने
December 12, 2018 - तेज प्रताप भी जीत से उत्साहित
December 12, 2018 - हार के अगले दिन बिहार में योगी
December 12, 2018 - बिहार से बाहर जदयू के सभी प्रयासों का हुआ बुरा हाल
December 12, 2018 - महागठबंधन में बड़े भाई और छोटे भाई पर बिगड़ी बात
December 12, 2018 - लोस के शीत सत्र में सुपौल की कांग्रेस सांसद ने इन मुद्दों को ले दी स्थगन प्रस्ताव नोटिस
December 12, 2018 - वसुंधरा राजे सरकार के 30 में से 20 मंत्री चुनाव हार गए, बेटे को टिकट दिलवाया वो भी हार गये
December 11, 2018 - मुख्यमंत्री ने समाजवादी नेता स्व0 राम अवधेष चैधरी के श्राद्धकर्म में भाग लिया

वाल्मीकिनगर में हो गया निर्णय

शेयर कर और लोगों तक पहुंचाए


प्रदेश की सियासत में सुर्ख़ियों में छाये रालोसपा अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाहा अब जल्द एक बड़ी घोषणा कर सकते है. इसकी फैसला के लिए उपेंद्र कुशवाहा की मौजूदगी में वाल्मीकिनगर में होनी है. खबर मिल रही है कि बंद कमरे में फैसला पार्टी स्तर पर ले लिया गया अब महज घोषणा की देरी है.

मालूम हो कि रालोसपा के दो दिनों तक चली चिंतन शिविर खत्म हो गयी है. विदित हो कि इस दो दिवसीय चिंतन शिविर से बाहर निकले पार्टी पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं की मानें, तो भाजपा और रालोसपा की करीब पांच साल पुरानी दोस्ती टूटनी तय है. हालांकि, इसकी अधिकारिक घोषणा उपेंद्र कुशवाहा खुद करेंगे.

मालूम हो कि एनडीए में चल रही तमाम उठा-पटक को लेकर रालोसपा केंद्रीय मंत्री और राष्ट्रीय लोक समता पार्टी के अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाहा फिलहाल दो दिनों से वाल्मीकिनगर में जमे हुए हैं. वह पार्टी पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं के साथ चिंतन-मनन में जुटे थे. आज का चिंतन शिविर तय समय से 9.30 बजे ही शुरू हो गया.

बता दें कि वाल्मीकिनगर में आयोजित इस चिंतन शिविर में मीडिया के जाने पर भी पाबंदी लगा दी गयी है. पार्टी नेताओं के मोबाइल भी बाहर ही रखवा दिये गये हैं. अब कयास लगाया जा रहा है कि पार्टी कार्यकर्ताओं का मिजाज देखने-पढ़ने के बाद उपेंद्र कुशवाहा जल्द कोई बड़ा फैसला कर सकते हैं.

वहीं, विश्वस्त सूत्रों की मने तो शिविर में भाजपा और जदयू के प्रति कार्यकर्ताओं का आक्रोश झलक रहा है. अमूमन हर वक्ता अपनी भड़ास मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी पर निकाल रहा है. कार्यकर्ताओं का मानना है कि बिहार के ये दोनों नेता नहीं चाहते हैं कि उपेंद्र कुशवाहा की स्थिति बिहार में मजबूत हो. ऐसे में सूत्र बता रहे है कि रालोसपा अब एनडीए को छोड़ने की अधिकारिक घोषणा करेगी. यह निर्णय ले लिया गया है. हालांकि इसकी पुष्टि कुशवाहा के द्वारा घोषणा किये जाने के बाद ही हो पायेगी.

शेयर कर और लोगों तक पहुंचाए

About author

Related Articles