Input your search keywords and press Enter.

बिहार में चौकीदार-दफादार के परिजनों की जल्द होगी अनुकंपा पर बहाली

नीतीश सरकार ने चौकीदार-दफादार के आश्रितों को अनुकंपा के आधार पर नियुक्त करने के लंबित मामलों का शीघ्र निपटारा करने का निर्देश दिया है। विधानसभा में शुक्रवार को प्रभारी गृह मंत्री विजेंद्र प्रसाद यादव ने भारतीय जनता पार्टी के विधायक नीतीश मिश्रा के ध्यानाकर्षण सूचना का जवाब देते हुए कहा कि उन्होंने आज ही सभी जिलाधिकारियों को चौकीदार-दफादार के आश्रितों को अनुकंपा के आधार पर नियुक्ति के सभी लंबित मामलों का शीघ्र निपटारा करने का निर्देश दिया है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने जनवरी 1990 को ही चौकीदार और दफादार को चतुर्थवगीर्य कर्मचारी घोषित किया है।

आपको बता दें कि चौकीदार-दफादार की सेवाकाल में मृत्यु होने पर सरकारी सेवकों की भांति उनके भी आश्रितों को लाभ दिया जाता है। इसी के तरह 5 जनवरी 2014 से सेवानिवृत्ति से एक माह पूर्व स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति लेने पर चौकीदार और दफादार के आश्रित को नौकरी दिए जाने का प्रावधान है।

गौरतलब है कि इससे पहले भाजपा विधायक नीतीश मिश्रा ने कहा कि अनुकंपा के आधार पर नियुक्ति के लिए जिलाधिकारी की अध्यक्षता में बनी समिति की बैठक नहीं होने के कारण चौकीदार और दफादार के आश्रित को कायार्लय का चक्कर लगाना पड़ता है। उन्होंने सरकार से आग्रह किया कि अनुकंपा के आधार पर नियुक्ति के लंबित मामले को अभियान चलाकर निपटारा किया जाए। इसी पर मंत्री ने कहा कि उन्होंने आज ही जिलाधिकारी को इस संबंध में निर्देश दिया है।