Input your search keywords and press Enter.

देश की बैंकिंग सिस्टम में हो सुधार आम आदमी को आर्थिक रूप से झेलने पर रहे है नुकसान:- रजनीश तिवारी

पटना

जन अधिकार पार्टी लोकतांत्रिक के युवा परिषद के प्रदेश प्रवक्ता रजनीश तिवारी ने देश में चल रहे वर्तमान बैंकिंग सिस्टम पर सवाल खड़ा किया है.तिवारी ने ब्यान जारी कर कहा कि बैंक आज आम आदमी को लाभ पहुंचाने के बजाय उनहे आर्थिक नुकसान में ले जा रही हैं.तिवारी ने कहा कि आज बैंकों में 2000 एवं 3000 से खाते खोले जा रहे हैं बैंकों ने मिनिमम बैलेंस ₹3000 रखना लगभग सभी बैंकों ने अनिवार्य कर दिया है.और जिन लोगों का इस से कम बचत खाता में बैलेंस रहता है.एक हजार रुपए से कम ,3000 से कम 2000 से कम उन्हें इसका भरपाई करना पड़ता है और बचत खाते के सारे पैसे काट लिए जाते हैं.

ऐसे में जो गरीब गुरबा हैं जिनको हजार रुपए और उससे ज्यादा रखने का क्षमता नहीं है या जो व्यक्ति के बचत खाता में 500,700 ,₹800 है.वह रुपए पर्याप्त राशि नहीं होने के कारण उनके खाते से काट लिए जा रहे हैं.ऐसे में लोगों को काफी दिक्कत पैदा हो रही है और आर्थिक नुकसान लगातार हो रहा है गरीबों की मेहनत की कमाई को बैंक हड़पने का कार्य कर रहे हैं.

Loading...

तिवारी ने कहा कि आज जो सफेद रुपया बड़े- बड़े बिजनेसमैन विजय माल्या, नीरव मोदी जैसे लोग लेकर देश से फरार हो गए हैं वह सभी रुपए की भरपाई आज आम जनता गरीब-गुरबों से वसूला जा रहा है जो की बहुत ही निंदनीय एवं शर्मनाक है.सरकार उन भगोड़ों पर कार्यवायी करने के बजाय आम आदमी को उसका हक,उसके रुपए को छीनने के दिशा में हावी है.

जन अधिकार पार्टी इसकी घोर निंदा करती है और इस विषय को लेकर,आम जनता की समस्या को लेकर अगर सरकार नही चेतती है इस दिशा में कोई फैसला नही लेती है तो जन अधिकार पार्टी ,युवा परिषद माननीय पार्टी संरक्षक सह सांसद श्री राजेश रंजन उर्फ पप्पू यादव के नेतृत्व में विशाल आंदोलन कर इसके खिलाफ अभियान चलाने का कार्य करेगी.

तिवारी ने केंद्र सरकार एवं आरबीआई से मांग किया है कि मिनिमम जीरो बैलेंस पर बचत खाता खोला जाए और पर्याप्त राशि के रूप में जीरो रुपए या 100 रुपए ही निर्धारित किया जाए ताकि किसी भी आम आदमी को नुकसान ना झेलने पड़े और उनके बचत खाते के रुपए सही सलामत रहे.

Leave a Reply

Your email address will not be published.