Input your search keywords and press Enter.

युवाओं के लिए प्रेरणास्रोत थे करुणानिधि। ककड़िया विद्यालय में शोक सभा आयोजित कर बच्चों ने दी श्रद्धांजलि।

नालन्दा से डीएसपी सिंह

नालन्दा जिला मुख्यालय स्थिति मध्य विद्यालय ककड़िया के प्रांगण में तमिलनाडु के पूर्व मुख्यमंत्री मुत्तुवेल करुणानिधि के निधन पर शोकसभा का आयोजन किया गया.मौके पर विद्यालय परिवार ने दो मिनट का मौन रखकर उनकी आत्मा की शांति के लिए ईश्वर से प्रार्थना किया.शोक सभा को संबोधित करते हुए शिक्षक नेता राकेश बिहारी शर्मा ने कहा कि मुत्तुवेल करुणानिधि का जन्म 3 जून 1924 को ब्रिटिश भारत के नागपट्टिनम के तिरुक्कुभलइ में पितामुत्तुवेल और माता अंजुगम के यहां हुआ था.

DIGI Singing Star Audition के लिए क्लिक करें

उन्होंने कहा कि करुणानिधि जी भारतीय राजनेता और तमिलनाडु के पूर्व मुख्यमंत्री थे.वे तमिलनाडु राज्य के एक द्रविड़ राजनीतिक दल द्रविड़ मुन्नेत्र कज़गम के एक प्रमुख नेता थे.उन्होंने अपने 60 साल के राजनीतिक सफर में कभी भी चुनाव नहीं हारे.ये अपनी चुनावी सीट पर जीतने का रिकॉर्ड बनाया था.वे तमिल सिनेमा जगत के एक फिल्मकार, प्रखर व निर्भीक लेखक, महान विचारक, पटकथा लेखक तथा कुशल नेतृत्वकर्ता तथा लोकप्रिय कलाकार भी थे.

Loading...


Widget not in any sidebars

करूणानिधि का निधन 7 अगस्त 2018 को कावेरी अस्पताल में हुआ.ये ग्यारह दिनों से अस्पताल में भर्ती थे.करुणानिधि जी तमिल राजनीति को केंद्र में लेकर आए और छह दशकों तक राजनीति में एक कद्दावर नेता बने रहे.ये एक महान नेता व विचारक थे.उन्होंने वंचितों, शोषितों के लिए हमेशा काम किया.ये दक्षिण की राजनीति के प्रमुख स्तंभ थे.उनके निधन से देश को भारी क्षति हुई है.मौके पर विद्यालय के प्रधानाध्यापक शिवेन्द्र कुमार,सुरेश प्रसाद रजक,शैलेन्द्र कुमार विद्यार्थी,जितेंद्र कुमार मेहता,पूजा कुमारी,सुरेश कुमार, अनुज कुमार इत्यादि लोगों ने भाग लिया.


Widget not in any sidebars

Leave a Reply

Your email address will not be published.