Input your search keywords and press Enter.

देश की सुरक्षा देनेवाले जवान के घर मे चोरी

भोजपुर जिले के गजराजगंज ओपी थाना क्षेत्र के कारीसाथ गांव के तेज नारायण यादव के घर लाखों की चोरी हुई है.तेज नारायण यादव ने कहा कि पिछले दिनों 10.08.18 को चोरी हुई थी और फिर बीती रात दुबारा चोरी हो चुकी है इसके लिए थाना को सूचित किया गया है और पुलिस छानबीन में जुटी है.

DIGI Singing Star Audition के लिए क्लिक करें

यादव ने कहा कि चोर बाहरी दीवार से चढ़कर छत से सीढी के रास्ते उतर गए और घर के दरवाजे को बाहर से बंद कर घर में सभी सामान ले गए जो गांव के बाहर खेतों में फेंक दिया था और कीमती सामान उड़ा ले गए.यादव ने कहा कि हम लोग देश की सेवा करने में लगे हैं लेकिन हमारा परिवार कोई सुरक्षित नहीं है जोकि हफ्ते में दो बार चोरी हो चुकी इससे हम लोग क्या अंदाजा लगा सकते हैं.हम लोग सभी भाई देश की सेवा करने में जुटे हैं लेकिन हमारे परिवार का कोई सुरक्षा की गारंटी नहीं है कब खतरा हो सकती है.

Loading...

Widget not in any sidebars

यादव ने कहा कि हमारे परिवार की सुरक्षा की कोई गारंटी नहीं है इसलिए देश की सेवा छोड़कर अपने परिवार की सेवा में लग जाएंगे.यादव ने कहा कि देश की सुरक्षा में सैनिकों का अहम योगदान रहता है.

रमेश कुमार यादव जो कारगिल युद्ध में शामिल थे.देश के जवान हरेश कुमार सिंह जो अपने गांव आए हुए है तो अपने तथ अपने परिवार को असुरक्षित महसूस कर रहे हैं.इनके परिवार के दर्जनों सदस्यों ने देश की सेवा कर चुके हैं और कर रहे है फिर भी इनका परिवार असुरक्षित हैं.

सैनिक चाहे किसी भी देश के क्यों न हों, उनकी जिंदगी हमेशा कठिनाईयों से भरी होती है.सैनिक हमारे देश के प्रहरी होते है, लेकिन हमारे परिवार का प्रहरी कोई नहीं होता अगर होता तो यह चोरी नहीं होती.देश की रक्षा के लिये हमेशा तत्पर रहने वाले सैनिक अपने परिवार से दूर रहते हैं.साल में सिर्फ दो महीने के लिये वो अपने के साथ रहने आते हैं, और उसमें भी यदि बीच में ही कहीं लड़ाई छिड़ जाये या अन्य जरूरत आ पड़ी तो उन्हें वापस बुला लिया जाता है.फिर भी वैसी स्थिति में हमारे परिवार का कोई सुरक्षा नहीं मिल पाता है.देश की रक्षा के लिये हर समय मर-मिटने के लिये तैयार रहते हैं.सैनिक अपने कर्तव्य पालन व उद्देश्य की पूर्ति के लिये अपना घर-परिवार छोड़कर उनसे मीलों दूर रहकर संपूर्ण भारत को अपना घर व प्रत्येक भारतवासी को अपना पारिवारिक सदस्य मानते हैं.


Widget not in any sidebars

Leave a Reply

Your email address will not be published.