Input your search keywords and press Enter.

राजधानी में बड़ी सांप्रदायिक हिंसा होते-होते बची, पुलिस ने किया हालात पर काबू

हितेश कुमार राजधानी में बुधवार को एक बड़ी सांप्रदायिक हिंसा की घटना होते-होते रूकी है. यहां के राजाबाजार के मछली गली क्षेत्र में आपसी विवाद को सांप्रदायिक रंग देने की कोशिश की गई. हालांकि पुलिस की तत्परता ने एक बड़ी घटना होने से बचा लिया है. फिलहाल हालात नियंत्रण में है. प्रभावित क्षेत्र में पुलिस गश्त बढ़ा दी गई है. पुलिस चौकन्ना है. दोनों पक्षों के बीच हुई लड़ाई में कई लोग घायल हुए हैं. दोनों पक्षों ने स्थानीय शास्त्री नगर थाने में एक दूसरे के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई है.

पुलिस मामले की जांच कर रही है. एफआईआर दर्ज करने की कार्रवाई की जा रही है. जानकारी के मुताबिक राजाबाजार के मछली गली के पास बाइक खड़ी करने को लेकर हुए विवाद में दो पक्षो के बीच मारपीट हुई. अफवाहों का बाजार गर्म हुआ और दो पक्षों का विवाद दो समुदाय का विवाद बनने लगा. दोनों तरफ से लोग जमा हुए. लाठी-डंडे चले. सिर फुटव्वौल हुआ. इससे पहले की इस विवाद को पूरी तरह सांप्रदायिक रंग ले पाता, सूचना पाकर शास्त्रीनगर थाने की पुलिस ने तुरंत घटनास्थल पर पहुंच कर हालात को काबू किया.

Loading...

थाने में दिए गए आवेदनों में दोनों पक्षों ने एक-दूसरे पर विवाद शुरु करने का आरोप लगाया है. आवेदक चौधरी गली निवासी अरुण कुमार पुत्र रामचन्द्र यादव ने अपनी शिकायत में दूसरे पक्ष के 14 लोगों को नामजद जबकि कई अज्ञात के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई है. जबकि दूसरे पक्ष ने केवल अरूण यादव समेत कई अन्य अज्ञात लोगों को नामजद किया है. इस मामले में शास्त्रीनगर थानाध्यक्ष निहार भूषण ने बताया कि किसी मामूली विवाद को लेकर पहले पक्ष द्वारा दूसरे पक्ष के साथ मारपीट की गई थी.

लेकिन दूसरे पक्ष ने इसकी शिकायत पुलिस को करने की बजाय इसे प्रतिष्ठा का विषय़ बना दिया और बदला लेने के उद्देश्य से कुछ लोगों के साथ आकर पहले पक्ष के साथ मारपीट की. थानाध्यक्ष ने बताया कि अगर पहले ही पुलिस को शिकायत कर दी जाती तो मामला इतना नहीं बिगड़ता. उन्होंने बताया कि केवल प्रतिष्ठा के लिए हुए विवाद के कारण आज एक बड़ी घटना घट सकती है.


Widget not in any sidebars

Leave a Reply

Your email address will not be published.