Input your search keywords and press Enter.

भारतीय सीमा में अवैध ढंग से प्रवेश कर रहे दो पाकिस्तानी जासूस गिरफ्तार, कई संदिग्ध दास्तवेज बरामद

डीबीएन न्यूज/मोतिहारी/रक्सौल {मधुरेश}– भारत-नेपाल सीमा पर अवस्थित पूर्वी चंपारण के रक्सौल बॉर्डर पर तैनात सुरक्षाकर्मियों को थोड़ी देर पहले भारी सफलता हाथ लगी है. सुरक्षाकर्मियों ने अवैध रूप से भारत में प्रवेश कर रहे दो नाइजेरियन नागरिक को दबोच लिया है. गिरफ्तार दोनों के पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई का एजेंट होने की संभावना है.

सुरक्षा एजेंसी की सूत्रों के मुताबिक, गिरफ्तार दोनों नाइजेरियन नागरिक के पास से साइबर हैक करने वाली बुक, पेन ड्राइव और कई संदिग्ध दस्तावेज भी बरामद हुए हैं.पेन ड्राइव में भारी मात्रा में पैसा ट्रांजेक्शन के डिटेल्स मिले हैं.


Widget not in any sidebars

पूछताछ में दोनों विदेशी नागरिकों ने बताया कि वे नेपाल की राजधानी काठमाण्डू पहुंचने के बाद रक्सौल बॉर्डर से होकर उन्हें कोलकाता जाना था. इनके पॉसपोर्ट पर दिल्ली एराइवल की मुहर लगी है. लेकिन इन लोगों ने बताया कि वे कभी दिल्ली नहीं आए हैं. सुरक्षा एजेंसी को शक है कि आंख में धूल झोंकने के लिए पासपोर्ट पर दिल्ली एराइवल का फर्जी मुहर लगाया गया है.

भारत मे प्रवेश करने के लिए कोई वीजा भी उनके पास नहीं था. सीधे नेपाल की राजधानी काठमांडू से रक्सौल बॉर्डर पहुंचे इन दोनों की पहचान ओहजुरमे विक्टर उगोचुकवू एवं सेरिकी अबायोमी जेलीली के रूप में हुई है.

Loading...

अधिकारियों ने जब उनसे वीजा मांगा तो उन्होंने कहा कि उन्हें यह जानकारी है कि नेपाल से भारत में आने के लिए पासपोर्ट व वीजा की जरूरत नही होती है. पूछताछ में दोनों ने कहा कि वे फुटबॉल खिलाड़ी हैं, जिनका मैच कोलकात्ता में है. वे मैच खेलने वहां जा रहे हैं. परन्तु जब उनके पासपोर्ट का निरीक्षण किया गया तो उसमें विगत 18 मार्च को दिल्ली एयरपोर्ट पर अराइवल का स्टाम्प लगा हुआ था.

अधिकारियों ने जब दिल्ली के सम्बंधित अधिकारियों से सत्यापन कराया तो पाया गया कि उक्त तिथि को दिल्ली एयरपोर्ट पर उनलोगों का कोई आगमन अंकित नहीं है. उनके पासपोर्ट पर लगे स्टाम्प भी फर्जी हैं.

इन दोनों की गिरफ्तारी के साथ ही आवश्यक जांच-पड़ताल के बाद इमीग्रेशन विभाग ने उन्हें रक्सौल पुलिस को सौप दिया है. पुलिस कड़ी सुरक्षा के बीच दोनों से पूछताछ कर रही है. पुलिस यह जानने की कोशिश में जुटी है कि आखिर ये विदेशी नागरिक किस उद्देश्य से भारतीय सीमा में प्रवेश कर रहे थे. इन दोनों से अन्य सुरक्षा एजेंसियों द्वारा पूछताछ करने की भी संभावना है.

यहां बता दें कि भारत-नेपाल की खुली सीमा होने का फायदा उठाकर हर हमेशा संदिग्ध विदेशी नागरिक भारत में प्रवेश की कोशिश करते हैं. इससे पहले भी रक्सौल बॉर्डर से कुख्यात आतंकी भटकल के अलावें आईएसआई के कई एजेंट भी भारत में घूसपैठ करते समय पकड़े गए हैं.

बिहार से लगी भारत-नेपाल की खुली सीमा अपने देश की सुरक्षा के लिए गंभीर खतरा है. सीमा पार से होने वाले घूसपैठ को हमारे सुरक्षा बल हर संभव रोकने की कोशिश तो करते हैं लेकिन खुली सीमा होने के कारण काफी परेशानी होती है.


Widget not in any sidebars

Leave a Reply

Your email address will not be published.