Input your search keywords and press Enter.

विश्व योग गुरु स्वामी रामदेव जी महाराज बिहारशरीफ पहुंचे, तीन दिन योग सिखाएंगे, मीडिया से रु-ब-रु होते हुए कहा….

डीबीएन न्यूज/नालन्दा(डीएसपी सिंह)-योग गुरू स्वामी रामदेव जी महाराज मंगलवार को 3 दिन के प्रवास पर बिहारशरीफ पहुंच गए. बिहारशरीफ के पतासंग मोड़पर व बिहारशरीफ परिसदन में स्वामी रामदेव जी का पतंजलि समिति के सदस्यों तथा सर्व समाज के लोगों द्वारा फुल-माला से भव्य स्वागत किया गया. लोगों के प्यार प्रेम को देखकर स्वामी रामदेव जी महाराज अभिभूत हो गए.

बिहारशरीफ पहुंचने से पूर्व स्वामी रामदेव का पतासंग मोड़पर नालंदा जिला पतंजलि समिति के संरक्षक सुनील कुमार के आवास पर पतंजलि योग समिति के प्रदेश संरक्षक उदय शंकर प्रसाद के द्वारा फुल-माला पहनाकर अभिनंदन किया गया. लोगों ने स्वामी जी को माला, पुष्प गुच्छ आदि भेंट कर अभिनंदन किया. लोगों की भीड व सम्मान देखकर स्वामी जी अभिभूत हो गए. उन्होने कहा कि नालंदा का नाम मैं बचपन से सुनता आ रहा हूँ और यहाँ आने का सौभाग्य प्राप्त हुआ है. इसके बाद बिहारशरीफ परिसदन में सबसे पहले स्वामी रामदेव जी मीडिया से रूबरू हुए तथा कार्यक्रमों की जानकारी देते हुए बताया कि लोगों को रोग मुक्त व व्यसन मुक्त करने के लिए नालंदा में पहली बार तीन दिवसीय योग-विज्ञान व ध्यान शिविर 9 मई से 11 मई तक आयोजित किया गया है जिसमें लोगों को योग, ध्यान व प्रणायाम कराया जायेगा.इस दौरान महिलाओं के लिए भी विशेष योग ध्यान शिविर लगाया जायेगा.


Widget not in any sidebars

योग मजहबी विद्या नहीं है.योग शरीर के साथ लोगों की मानसिकता को शुद्ध करता है. योग एक वैज्ञानिक अभियान है, जो सभी बीमारियों और बुराइयों के खिलाफ है.लाखों लोगों को दवाओं और ऑपरेशन से बचाया जा चुका है. योग का उद्देश्य लोगों के शरीर को दवा खाना बनाने से बचाना है जो योग करेगा उसका तनमन स्वस्थ रहेगा और उसके अच्छे दिन आएंगे. हमें भारत को आर्थिक और आध्यात्मिक शक्ति बनाने का लक्ष्य है। ये बातें योग गुरु बाबा रामदेव ने मंगलवार को बिहारशरीफ के परिसदन में आयोजित प्रेसवार्ता में कही.

Loading...

बाबा रामदेव जिला स्टेडियम दीपनगर बिहारशरीफ स्थित मैदान में तीन दिन तक लोगों को योग,प्रणायाम, आयुर्वेद के उपचार तथा आदर्श जीवन जीने की कला सिखाएंगे. उन्होंने कहा कि योग सभी के लिए है, इसे धर्म और राजनीति से न जोड़ें. देश में हजारों संन्यासी लगभग सौ करोड़ लोगों को योग की शिक्षा दे रहे हैं. अक्सर कम पढ़े लिखे लोग योग को धर्म से जोड़कर देखते हैं पर पढ़े लिखे लोगों में यह बात नहीं है. परन्तु योग गुरु बोले कि मुस्लिम योग करें, अगर उनका धर्म बदला तो हमें कोइ बताएं.इस दौरान उन्होंने कई योगासन करके दिखाए. उन्होंने कहा कि सभी बीमारियों और बुराइयों के खिलाफ योग एक वैज्ञानिक अभियान है.योग के माध्यम से लाखों लोगों को दवाओं और ऑपरेशन से बचाया है. लोगों का शरीर दवाखाना बनते जा रहा है.

उन्होंने अपने स्वदेशी उत्पादों का बिना जिक्र किये कहा कि देश को रोग और आर्थिक गुलामी से आजादी दिलानी है. उद्योग से लाखों को रोजगार दिया जा रहा है. फकीर को कुछ नहीं चाहिए. सबकुछ देश के लिये किया जा रहा है.देश की चिंता हम लोग नहीं करेंगे तो कौन करेगा.

इस दौरान प्रदेश संरक्षक उदय शंकर प्रसाद, जिला संरक्षक सुनील कुमार, सांसद कौशलेन्द्र कुमार, डॉ सुनील कुमार,केंद्रीय प्रभारी राकेश कुमार, केंद्रीय युवा प्रभारी रामाशीष प्रसाद, वरिष्ठ प्रांतीय प्रभारी अजीत कुमार, दक्षिण बिहार प्रभारी अरुणेश कुमार, मीडिया प्रभारी राकेश बिहारी, प्रदेश महिला प्रभारी सुधा दीदी, चुन्नी लाल , विनय कुमार, इंजीनियर रविशंकर प्रसाद, माखन लाल, रामजी प्रसाद यादव, नरेश कुमार सिन्हा, सुजीत कुमार, चंद्र उदय कुमार,धन्नू वर्मा समेत कार्यकर्ता मौजूद रहे.

कार्यकर्ताओं को विभिन्न जिम्मेदारियों का कुशलता पूर्वक निर्वहन करने को कहा और सभी लोगों को योग शिविर में आने को कहा.योग शिविर 9,10 और11 मई को सुबह पांच बजे से साढ़े सात बजे तक आयोजित किया जाएगा.


Widget not in any sidebars

Leave a Reply

Your email address will not be published.