Breaking News
March 19, 2019 - लगता हैं कांग्रेस सिन में नही, अब लेफ्ट से चल रही बात
March 19, 2019 - जदयू के इस सांसद ने किया नामांकन
March 19, 2019 - गया से टिकट कटने के बाद BJP सांसद ने लगाया बड़ा आरोप
March 19, 2019 - अब गिरिराज सिंह को मिला नीतीश सरकार के मंत्री का साथ, दिया यह बड़ा बयान
March 19, 2019 - आंध्रप्रदेश के सिएम ने PK को बताया बिहारी डकैत, प्रशांत किशोर ने भी दिया मुहतोड़ जवाब
March 19, 2019 - 4 बजे तक का अल्टीमेटम, कांग्रेस नेताओं ने उठाया यह कदम
March 19, 2019 - 5 सालों में सबसे ज्यादा बढ़ी शत्रुघ्न सिन्हा की संपत्ति, जान रह जायेंगे हैरान
March 19, 2019 - कांग्रेस के नाक नुकुर से तेजस्वी गुस्से में
March 19, 2019 - कैंसर उत्तरजीवी ओं के प्रति सामाजिक तथा मानवीय उत्तरदायित्व का निर्वहन
March 18, 2019 - गिरिराज सिंह को जवाब देने के लिए बीजेपी ने लगाया भूमिहार नेताओं को, अब सीपी ठाकुर के बेटे ने दी नसीहत

यूपी में यादव वोटरों के लिए बीजेपी ने चली ऐसी चाल कि अखिलेश भी रह गये दंग

शेयर कर और लोगों तक पहुंचाए

yogi

भारतीय जनता पार्टी अब समाजवादी पार्टी के वोट बैंक में सेंध लगाने की तैयारी कर रही है. जी हां पहले लोगों को लगा कि बीजेपी पिछड़ा सम्मलेन कर रही है लेकिन बीजेपी की इस सम्मलेन पर सबसे ज्यादा फोकस यादवों पर है, कई नेता तो इसे यादव सम्मलेन ही बुला रहे है. भारतीय जनता पार्टी उत्तर प्रदेश में काफी जोर से मिशन 2019 की तैयारी में लगी है. अब 15 सितंबर को लखनऊ में भाजपा अब सपा के मूल वोटबैंक में सेंधमारी के लिए यादव सम्मेलन करने जा रही है.

इस समेल्लन में यादव नेताओं को खास तवज्जों दिया जा रहा है. भाजपा ने यादव समुदाय से आने वाले कार्यकर्ताओं और पदाधिकारियों को इस सम्मेलन के लिए खासतौर पर तैयारी करने को कहा है. बूथ लेवल से लेकर प्रदेश स्तर तक के यादव जाति के कार्यकर्ताओं को लखनऊ के सम्मेलन में हिस्सा लेने के लिए कहा गया है.

यादव समुदाय पर सपा की मजबूत पकड़ होने के चलते भाजपा को इस बिरादरी का वोट बेहद कम मिलता रहा है. प्रदेश के बदलते समीकरण में भाजपा यादव समुदाय के लोगों को लुभाने की कोशिश कर रही है. भाजपा युवा मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष सुभाष यदुवंश ने बताया कि 15 सितंबर का सम्मेलन भी हमारे पिछड़े जातियों के सम्मेलन का ही एक हिस्सा है. इसे इसको यादव सम्मेलन नहीं कहना चाहिए. भाजपा किसी जाति विशेष का सम्मेलन नहीं करती, लेकिन यह सच है कि 15 सितंबर को हमारे यादव और उससे मिलती जुलती जाति के जो लोग पार्टी के पदों पर हैं. उन्हें इस कार्यक्रम में बुलाया गया है.

अखिलेश यादव ने कहा कि मुद्दों से ध्यान हटाने के लिए भाजपा अब जातीय सम्मेलन कर रही है. भाजपा के यादव सम्मेलन पर अखिलेश ने कहा कि कहा कि एक तरफ सम्मेलन कर रहे हो, दूसरी तरफ उन्हें नौकरी से निकाल दिया जा रहा है. भाजपा जो जातीय सम्मेलन कर रही है, केवल ध्यान हटाने के लिए है. किसी ने नहीं बताया होगा कि भारतीय जनता पार्टी यादव सम्मेलन कर रही है. राज्यपाल महोदय को पता चलेगा तो उसी समय सम्मेलन रुकवा देंगे.

शेयर कर और लोगों तक पहुंचाए
Tagged with:

About author