Input your search keywords and press Enter.

अपनी बात

आसान नहीं है कन्हैया के लिए बेगुसराय की राह, राजद के सपोर्ट के बाद भी हार

ब्लॉग. परबिंद कुमार. जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी के छात्र संघ के पूर्व अध्यक्ष कन्हैया कुमार के लिए इतना आसान नहीं होगा संसद में जाना. भूमिहार के गढ़ में वामपंथ के टूटे हुए किले में वामपंथी विचारधारा से जितना कन्हैया के लिए सपने जैसा है. उनकी छवि पहले से ही देश द्रोही…

अश्विनी चौबे जैसे को कौन बना देता है मंत्री?

ब्लॉग. पर्बिंद कुमार. रोज हम नेताओं के बयान देखते है. ऐसा नहीं है कि हम सिर्फ अश्विनी चौबे की बात करने के लिए यह ब्लॉग लिख रहे है. कई ऐसा नेता हैं जो बड़े पदों पर रहते हुए शर्मनाक बयान देते रहते है और उनपर कोई कार्रवाई नहीं होती. मणिशंकर…

सीट शेयरिंग पर जदयू ने रालोसपा को मारी लंघी?

जदयू प्रदेश अध्यक्ष वशिष्ठ नारायण सिंह ने कहा कि एनडीए में सीटों के बंटवारे को लेकर बातचीत आगे बढ़ी है. उन्हाेंने उम्मीद जताई कि अगले महीने तक भाजपा, जदयू, लोजपा और रालोसपा के बीच सीटों का मुद्दा सुलझ जाएगा. जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष नीतीश कुमार अगले महीने इस बारे में…

अटल बिहारी वाजपेयी को पसंद था यह बिहारी डिश

अटल बिहारी वाजपेयी जब भी बिहार दौरे पर होते थे तो वह दो चीज की खोज जरुर करते थे पहली वो डिश हैं लिट्टी और दूसरी बक्सर की पापड़ी. शाकाहार और सादा भोजन के शौकीन अटल जी को बिहार के दो डिश खासे पसंद थे. ये दो डिश थे- लिट्टी…

अब केंद्र की राजनीति करेंगे तेजस्वी और तेज प्रताप को मिलेगी बिहार की सत्ता?

ब्लॉग, पर्बिंद कुमार. पिछले दिनों ऐसी चर्चा जोड़ो पर थी कि तेज प्रताप बिहार की सत्ता संभालेंगे और तेजस्वी करेंगे केंद्र की राजनीति. तेज प्रताप के ट्वीटर हैंडल से ट्वीट भी आया था, जिसमें उन्होंने कहा था कि ‘मेरा सोचना है कि मैं अर्जुन को हस्तिनापुर की गद्दी पर बैठाऊं…

Chirag_PTI_380

क्या रामविलास पर भारी चिराग पासवान? चिराग करेंगे राजद से गठबंधन?

ब्लॉग. बिहार में लालू परिवार के लाल के अलावा रामविलास पासवान के लाल चिराग पासवान ने बहुत जल्द ही बिहार की राजनीति में जगह बना ली है. युवाओं के बीच भी पर काफी पोपुलर हैं, बड़े मुद्दे पर बेबाकी से अपनी राय रखते है, यह परवाह नहीं करते देखें जाते…

किंग मेकर की भूमिका में उपेन्द्र कुशवाहा

ब्लॉग. महागठबंधन जहां अपने गठबंधन को और बड़ा और व्यापक बनाने पर ध्यान दे रही हैं वहीं बीजेपी चाह रही हैं कि उसके साथ जो दल हैं वह जुड़े रहे. बिहार के एक तरफ राष्ट्रीय जनता दल, कांग्रेस, एनसीपी, हिंदुस्तानी आवाम मोर्च, वाम दल और शरद यादव का लोकतांत्रिक जनता…

क्या मोदी का किला जितनी तेजी से फैला था उतनी तेजी से सिमट जायेगा?

हालिया जो भी चुनाव हुए है उसमे यही देखा जा रहा है कि विपक्ष संगठित होने के कारण जो समीकरण अमित शाह या उनके सहयोगी दल बनाते थे वह अब नहीं बना पा रहे है और नतीजा हार हो रही है. कर्नाटक में बीजेपी सबसे बड़ी पार्टी पार्टी बनी लेकिन…