Input your search keywords and press Enter.

अब केंद्र की राजनीति करेंगे तेजस्वी और तेज प्रताप को मिलेगी बिहार की सत्ता?

ब्लॉग, पर्बिंद कुमार. पिछले दिनों ऐसी चर्चा जोड़ो पर थी कि तेज प्रताप बिहार की सत्ता संभालेंगे और तेजस्वी करेंगे केंद्र की राजनीति. तेज प्रताप के ट्वीटर हैंडल से ट्वीट भी आया था, जिसमें उन्होंने कहा था कि ‘मेरा सोचना है कि मैं अर्जुन को हस्तिनापुर की गद्दी पर बैठाऊं और खुद द्वारका चला जाऊं. अब कुछेक ‘ चुगलों ‘ को कष्ट है कि कहीं मैं किंग मेकर न कहलाऊं. राधे राधे.’

उस समय से ही चर्चा है कि तेजस्वी की तुलना में उनको पार्टी में ज्यादा तवज्जो नहीं मिलने के बाद तेज प्रताप ने ऐसी बातें बोली थी. हालांकि बाद में बैकफूट पर आये तेजप्रताप को तुरंत सफाई देना पड़ा. ट्वीट करने के कुछ ही घंटे बाद तेज प्रताप अपने माथे पर चंदन – टीका लगाकर पत्रकारों के सामने आए और कहा, ‘मैं राजनीति में ही रहूंगा… मेरे पिता ने इस पार्टी को बनाया है और राजद आज जो कुछ है, उसके लिए मेरे पिता ने कड़ी मेहनत की है.’

Loading...

लेकिन अब इसका असर दीखता नजर आ रहा है. तेजस्वी यादव दिल्ली के जंतर-मंतर पर मुजफ्फरपुर यौन उत्पीड़न मामले में धरना देने पहुंचे है, साथ ही इस धरने में सभी विपक्षी पार्टीयों को बुलाया गया है. कहा जा रहा है कि इस धरने से तेजस्वी को देश के नेता के तौर पर पहचान मिलेगा.

तेज प्रताप अक्सर लालू प्रसाद यादव वाली राजनीति में लगे जो लोगों से जोड़ता हैं वहीं अब तेजस्वी धीरे-धीरे केंद्र की राजनीति में जा सकते है. यह सिर्फ मेरी एक कोरी कल्पना हैं या आगे ऐसा कुछ हो सकता है यह तो कुछ सालों बाद ही पता चलेगा. मुख्यमंत्री की गद्दी छोटे भाई की होगी या बड़े भाई की या घर के बहु को. आने वाले समय में इसका जवाब मिलेगा.

फ़िलहाल इतना तो कह सकते है कि तेजस्वी यादव का कद देश की राजनीति में इस धरना प्रदर्शन से जरुर पड़ेगा. राजद की कोशिश सफल भी होती दिख रही हैं क्योंकि इस धरना में राहुल गाँधी के अलावा आम आदमी पार्टी सहित देश के कई बड़े नेताओं का समर्थन मिला है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.