Input your search keywords and press Enter.

सीट शेयरिंग पर जदयू ने रालोसपा को मारी लंघी?

जदयू प्रदेश अध्यक्ष वशिष्ठ नारायण सिंह ने कहा कि एनडीए में सीटों के बंटवारे को लेकर बातचीत आगे बढ़ी है. उन्हाेंने उम्मीद जताई कि अगले महीने तक भाजपा, जदयू, लोजपा और रालोसपा के बीच सीटों का मुद्दा सुलझ जाएगा. जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष नीतीश कुमार अगले महीने इस बारे में घोषणा करेंगे. जबकि कुशवाहा ने कल एक न्यूज़ चैनल से बात्चेत में कहा था कि अब भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) को बिना देर किए सीटों के तालमेल पर घटक दलों के साथ बातचीत शुरू कर देनी चाहिए. कुशवाहा ने साफ किया था कि 2019 में राष्ट्रीय लोक समता पार्टी की दावेदारी 2014 के मुकाबले ज्यादा सीटों पर होगी.

अब सवाल यही कि क्या जदयू और बीजेपी सिर्फ सीट शेयरिंग पर बात कर रहे है. क्या रालोसपा का राजद के साथ जाना तय है? कुशवाहा के कल के बयान के बाद जदयू का यह कहना कि सीट शेयरिंग पर एनडीए के दलों के बीच बातचीत हो चुकी है और सबकुछ ठीक है कितना सही है. जदयू ने तो यहां तक कह दिया कि इसकी घोषणा जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष नीतीश कुमार अगले महीने करेंगे.

Loading...

वशिष्ठ नारायण सिंह ने कहा कि सीटों के तालमेल को लेकर एनडीए के दलों के बीच कई बार बातचीत हो चुकी है. भाजपा के साथ भी सीट शेयरिंग को लेकर बातचीत सकारात्मक है. अगले महीने के दूसरे हफ्ते तक सबकुछ अंतिम तौर पर तय हो जाएगा. रालोसपा नेता उपेंद्र कुशवाहा की खीर पॉलिटिक्स पर वशिष्ठ नारायण ने कुछ भी बोलने से इंकार कर दिया. उन्होंने कहा कि मीडिया में दिए गए बयानों का कोई मतलब नहीं. अगर कुशवाहा के मन में कोई बात है तो वे उपयुक्त फोरम पर अपनी बातें रखें.

भाजपा नेता संजय टाइगर ने कहा की विपक्ष बयानबाजी कर सिर्फ माहौल बनाने की कोशिश कर रहा है. एनडीए में सीटों को लेकर कोई विवाद नहीं है. सही समय पर सीटों का बंटवारा हो जाएगा. हम लोग पहले भी साथ में चुनाव लड़ चुके हैं. पहले भी कोई दिक्कत नहीं हुई और आगे भी कोई दिक्कत नहीं होगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published.