Input your search keywords and press Enter.

किंग मेकर की भूमिका में उपेन्द्र कुशवाहा

ब्लॉग. महागठबंधन जहां अपने गठबंधन को और बड़ा और व्यापक बनाने पर ध्यान दे रही हैं वहीं बीजेपी चाह रही हैं कि उसके साथ जो दल हैं वह जुड़े रहे. बिहार के एक तरफ राष्ट्रीय जनता दल, कांग्रेस, एनसीपी, हिंदुस्तानी आवाम मोर्च, वाम दल और शरद यादव का लोकतांत्रिक जनता दल शामिल हैं, वहीं सूत्रों का कहना है कि चुनाव के नजदीक आते ही उपेन्द्र कुशवाहा भी महागठबंधन में आ जायेंगे.

दूसरी तरफ बीजेपी को जदयू से बहुत उम्मीदें है, एनडीए में बीजेपी, जदयू, रामविलास पासवान अभी तक मजबूती से हैं, उपेन्द्र कुशवाहा भी लगातार एनडीए में रहने का दावा करते रहते हैं लेकिन उनके दल के नेता ही कभी उन्हें मुख्यमंत्री के तौर पर तो कभी दल के एक बड़े जाती का नेतृत्व करने वाले नेता बताते रहे है.

Loading...

Widget not in any sidebars

बीजेपी भी नहीं चाहती कि उपेन्द्र कुशवाहा एनडीए से बाहर जाए लेकिन उपेन्द्र कुशवाहा ने कई ऐसे मांग केंद्र के सामने रख दिए है जिसे मोदी सरकार पूरा नहीं कर सकती है, जैसे न्यायिक आरक्षण, गरीब सवर्णों के लिए भी आरक्षण आदि. यह भी कहा जा रहा है कि अगर उपेन्द्र कुशवाहा एनडीए से अलग होते है तो यही इसका आधार होगा.

महागठबंधन और एनडीए जानती है कि जिधर उपेन्द्र कुशवाहा रहेंगे उसका पलड़ा भारी होगा. इसलिए अगर यह कहा जाए कि अभी उपेन्द्र कुशवाहा किंग मेकर की भूमिका में हैं तो गलत नहीं होगा. बाकी आप अपना राय भी जरुर कमेंट बॉक्स में लिखें.


Widget not in any sidebars

Leave a Reply

Your email address will not be published.