Breaking News
August 26, 2019 - पी.चिदंबरम को मिल झटका, सुप्रीम कोर्ट ने खारिज किया अंतरिम जमानत याचिका
August 26, 2019 - तेजस्वी यादव को राष्ट्रीय अध्यक्ष बनाने को लेकर राजद में विवाद
August 25, 2019 - प्रियंका गांधी ने कश्मीर को लेकर केन्द्र पर बोला हमला, कहा ‘लोगों को चुप कराना राष्ट्रविरोधी’
August 25, 2019 - तेजस्वी यादव बोले सिर्फ लालू परिवार ही भ्रष्टाचारी नहीं, आरसीपी सिंह पर जांच की रखी मांग
August 25, 2019 - BPSSC में 2446 पदों के लिये एजुकेशन क्वालीफिकेशन में बदलाव
August 25, 2019 - BPSSC में 2446 पदों के लिये एजुकेशन क्वालीफिकेशन में बदलाव
August 25, 2019 - अनंत सिंह ने जेल का खाना खाने से किया इंकार, मांगी विशेष सुविधा
August 25, 2019 - कोर्ट में पेशी के बाद पटना के बेऊर जेल भेजे गए अनंत सिंह
August 25, 2019 - तेजस्वी के कमबैक को झटका, शिवानंद तिवारी-भाई वीरेंद्र ने बनाई दूरी
August 25, 2019 - अरुण जेटली को लेकर लालू यादव ने बताई दिल की बात

32 हजार शिक्षकों की बहाली इसी माह से, अतिथि शिक्षकों की बढ़ेगी मुश्किल

शेयर कर और लोगों तक पहुंचाए

इस माह से राज्य के विभिन्न माध्यमिक और उच्चतर माध्यमिक स्कूलों में रिक्त पड़े 32 हजार शिक्षकों की बहाली की प्रक्रिया इस माह शुरू की जाएगी। सरकार विशेष अभियान चलाकर इन सभी पदों को जल्द भरने की तैयारी में है. शनिवार को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार द्वारा शिक्षा विभाग की समीक्षा बैठक के बाद आयोजित प्रेस वार्ता में अपर मुख्य सचिव, शिक्षा विभाग आरके महाजन ने कहा कि इनकी बहाली 60 वर्षों के लिए नियोजित शिक्षकों को मिलने वाले वेतनमान पर की जायेगी.

आरके महाजन ने कहा कि प्राथमिक शिक्षकों के रिक्त पदों की भी समीक्षा की जायेगी. इस समय प्रदेश में कुल 3.80 लाख प्राइमरी शिक्षक हैं. कई स्कूलों में विद्यार्थियों की तुलना में शिक्षक अधिक हैं. उन्हें ऐसे स्कूलों में भेजा जायेगा जहां शिक्षकों की संख्या कम है. इसके बाद भी यदि कमी पायी गयी तो खाली पदों पर बहाली की जायेगी.

नियोजित शिक्षकों की बहाली के बाद अतिथि शिक्षकों की सेवा नहीं ली जायेगी. राज्य में वर्तमान में 4300 ऐसे शिक्षक हैं जिन्हें प्रति कक्षा एक हजार की दर से अधिकतम 25 हजार रुपये तक मिलता है. महाजन ने कहा कि न्यायालय में नियोजित शिक्षकों का मामला होने के कारण उनकी नियुक्ति रुक गयी थी जिसके कारण अतिथि शिक्षकों की भर्ती करनी पड़ी. नियोजित शिक्षकों की बहाली के बाद उनकी जरूरत समाप्त हो जायेगी. यदि वे चाहें तो शिक्षक नियोजन प्रक्रिया में आवेदन देकर शामिल हो सकते हैं.

राज्य के उच्च विद्यालयों में खाली पड़े कंप्यूटर शिक्षकों के रिक्त पदों को भी भरा जायेगा. विज्ञान शिक्षकों की कमी को देखते हुए उनकी बहाली पर विशेष जोर दिया जायेगा और इसके लिए इसी माह से प्रक्रिया शुरू होगी. बांका के एक स्कूल के अनुभव को ध्यान में रखते हुए राज्य सरकार ने सभी स्कूलों में स्मार्ट क्लास को बढ़ावा देने का निर्णय लिया है. इसमें क्लास रूम में एक वीडियो स्क्रीन लगा होगा, जिस पर विशेष रूप से तैयार वीडियो दिखाये जायेंगे. इनमें अलग अलग विषयों को समझने लायक भाषा में आकर्षक ढंग से बच्चों को समझाया जायेगा.

शेयर कर और लोगों तक पहुंचाए
Tagged with:

About author

Leave a reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *