Breaking News
August 26, 2019 - पी.चिदंबरम को मिल झटका, सुप्रीम कोर्ट ने खारिज किया अंतरिम जमानत याचिका
August 26, 2019 - तेजस्वी यादव को राष्ट्रीय अध्यक्ष बनाने को लेकर राजद में विवाद
August 25, 2019 - प्रियंका गांधी ने कश्मीर को लेकर केन्द्र पर बोला हमला, कहा ‘लोगों को चुप कराना राष्ट्रविरोधी’
August 25, 2019 - तेजस्वी यादव बोले सिर्फ लालू परिवार ही भ्रष्टाचारी नहीं, आरसीपी सिंह पर जांच की रखी मांग
August 25, 2019 - BPSSC में 2446 पदों के लिये एजुकेशन क्वालीफिकेशन में बदलाव
August 25, 2019 - BPSSC में 2446 पदों के लिये एजुकेशन क्वालीफिकेशन में बदलाव
August 25, 2019 - अनंत सिंह ने जेल का खाना खाने से किया इंकार, मांगी विशेष सुविधा
August 25, 2019 - कोर्ट में पेशी के बाद पटना के बेऊर जेल भेजे गए अनंत सिंह
August 25, 2019 - तेजस्वी के कमबैक को झटका, शिवानंद तिवारी-भाई वीरेंद्र ने बनाई दूरी
August 25, 2019 - अरुण जेटली को लेकर लालू यादव ने बताई दिल की बात

नियोजित शिक्षकों के लिए सरकारी खजाने में कमी नहीं

शेयर कर और लोगों तक पहुंचाए

sushil modi

बिहार विधानपरिषद में डिप्टी सीएम ने आज बड़ा बयान दिया है. उन्कहोंने कहा कि अब शिक्षकों को वेतन के लिए इंतजार नहीं करना पड़ेगा. वेतन के लिए पैसे की कोई कमी नहीं है. उन्आहोंने नीतीश राज को लालू राज से कम्जपेयर करते हुए कहा कि आज वेतन भुगतान के लिए कर्ज नहीं लिया जाता. अगर आज हम कर्ज लेते हैं बिहार के विकास के लिए.

राजद पर तंज कसते हुए डिप्टी सीएम सुशील मोदी ने कहा कि आज से 15 साल पहले वेतन के लिए भी कर्ज लिए जाते थे. पहले की सरकार में कर्मचारियों के वेतन के लिए भी पैसे नहीं होते थे.

सुशील मोदी ने कहा कि आज बिहार के शिक्षकों एवं अन्य कर्मियों के वेतन भुगतान के लिए पैसे की कोई कमी नहीं है।कुछ तकनीकी खामी की वजह से शिक्षकों के वेतन भुगतान में थोड़ी परेशानी हुई है. लेकिन अगले एक से डेढ महीने में शिक्षकों का वेतन नियत समय पर खाते में भुगतान होने लगेगा.

विधानपरिषद में बजट पर चर्चा करते हुए डिप्टी सीएम ने कहा कि पहले और आज में बहुत अंतर आ गया है. पहले की सरकार में मार्च लूट होती थी. पहले के दौर में मार्च महीने में ट्रेजरी में बड़े पैमाने पर अवैध निकासी होती थी. लेकिन आज सबकुछ बदल गया है. कोई चाहकर भी ट्रेजरी में इधर-उधर नहीं कर सकता.

विधानपरिषद में बजट पर सरकार की तरफ से जवाब देते हुए डिप्टी सीएम ने कहा कि अब कोई राज्य चाहकर भी अधिक कर्ज नहीं ले सकता. क्योंकि केंद्र सरकार का स्पष्ट गाईडलाईन है. मोदी ने सदन में जानकारी दी कि इस बार बिहार सरकार 24 हजार 420 करोड़ रू कर्ज ले सकती है..उससे अधिक कर्ज नहीं लिया जा सकता.

शेयर कर और लोगों तक पहुंचाए
Tagged with:

About author

Related Articles

Leave a reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *