Input your search keywords and press Enter.

चंद्र ग्रहण काल हुआ शुरू, सूतक में न करें ये काम

सदी का सबसे लंबा चंद्रग्रहण आज रात लगने वाला है.यह ग्रहण रात 11.54 से शुरू होकर अगले दिन 28 जुलाई सुबह 3.49 तक रहेगा, यानी यह पूर्ण चंद्र ग्रहण होगा. जिसकी अवधि 3 घंटे 55 मिनट तक है.

नई दिल्ली: 27 जुलाई को साल 2018 का दूसरा चंद्र ग्रहण पड़ रहा है. यह ग्रहण रात 11.54 से शुरू होकर अगले दिन 28 जुलाई सुबह 3.49 तक रहेगा, यानी यह पूर्ण चंद्र ग्रहण 1 घंटे 48 मिनट तक बना रहेगा. दोपहर 2:54 पर ग्रहण काल शुरू हो चुका है. मान्यता है कि इस समय कोई शुभ काम नहीं करना चाहिए. इस चंद्र ग्रहण में चंद्रमा लाल रंग का दिखेगा, जिसे ब्लड मून भी कहा जाता है. इस दौरान एक तरफ जहां चांद देखने की उत्सुकता रहती है, वहीं डर भी रहता है कि ग्रहण के दौरान चांद की हानिकारक किरणों से आंखों को कई नुकसान ना हो. इसीलिए यहां चंद्र ग्रहण को देखने के लिए खास टिप्स दिए जा रहे हैं, जिन्हें अपनाकर आप ग्रहण को देख सकते हैं.

चंद्र ग्रहण के दौरान इन बातों का रखें ध्यान :

1. सूर्य ग्रहण की तरह आपको इसे चश्मों के साथ देखने की ज़रूरत नहीं पड़ती. बल्कि चंद्र ग्रहण को नंगी आंखों से देखा जा सकता है. वहीं, सूर्य ग्रहण को खास सोलर फिल्टर वाले चश्मों से देखने की सलाह दी जाती है जिन्हें सोलर-व्युइंग ग्लासेस, पर्सनल सोलर फिल्टर्स या आइक्लिप्स ग्लासेस कहा जाता है.

Loading...

Widget not in any sidebars

2. सूतक के समय भोजन नहीं करना चाहिए.जल का भी सेवन नहीं करना चाहिए.ग्रहण से पहले ही जिस पात्र में पीने का पानी रखते हों उसमें कुशा और तुलसी के कुछ पत्ते डाल देने चाहिए.

3.​ अगर करना है पूर्ण चंद्र ग्रहण का दीदार तो कीजिए इंद्र देवता को खुश

4. चंद्र ग्रहण के समय गर्भवती महिलाओं को ग्रहण की छाया आदि से विशेष रूप से बचना चाहिए.

5. धार्मिक मान्यताओं के अनुसार सूतक समय को आमतौर पर अशुभ मुहूर्त समय माना जाता है.इसे ऐसा समय कहा जा सकता है, जिसमें शुभ कार्य करने वर्जित होते है. सूतक ग्रहण समाप्ति के बाद धर्म स्थलों को फिर से पवित्र किया जाता है.

6. वहीं, ज्योतिषों और पंडितों के अनुसार ऐसा कहा जाता है कि ग्रहण के वक्त खुले आकाश में ना निकलें, खासकर प्रेग्नेंट महिलाएं, बुजुर्ग, रोगी और बच्चे. ग्रहण से पहले या बाद में ही खाना खाएं.

चंद्रग्रहण के दौरान न करें ये काम

1. सूतक काल में पूजा-पाठ करने से बचना चाहिए.

2. ग्रहण के समय खाना खाने से भी बचना चाहिए। इस दौरान ग्रहण किया गया भोजन अशुद्ध हो जाता है.

3. जिन चीजों को फेंका नहीं जा सकता उन खाने पीने की चीजों में तुलसी की पत्ती डाल दें.

4. गर्भवती स्त्रियों को ग्रहण काल घर से बाहर नहीं निकलना चाहिए. ग्रहण के समय निकलने वाली नकारात्मक किरणें माता और शिशु के स्वास्थ्य को नुकसान पहुंचा सकती हैं.


Widget not in any sidebars

Leave a Reply

Your email address will not be published.