Breaking News
August 26, 2019 - पी.चिदंबरम को मिल झटका, सुप्रीम कोर्ट ने खारिज किया अंतरिम जमानत याचिका
August 26, 2019 - तेजस्वी यादव को राष्ट्रीय अध्यक्ष बनाने को लेकर राजद में विवाद
August 25, 2019 - प्रियंका गांधी ने कश्मीर को लेकर केन्द्र पर बोला हमला, कहा ‘लोगों को चुप कराना राष्ट्रविरोधी’
August 25, 2019 - तेजस्वी यादव बोले सिर्फ लालू परिवार ही भ्रष्टाचारी नहीं, आरसीपी सिंह पर जांच की रखी मांग
August 25, 2019 - BPSSC में 2446 पदों के लिये एजुकेशन क्वालीफिकेशन में बदलाव
August 25, 2019 - BPSSC में 2446 पदों के लिये एजुकेशन क्वालीफिकेशन में बदलाव
August 25, 2019 - अनंत सिंह ने जेल का खाना खाने से किया इंकार, मांगी विशेष सुविधा
August 25, 2019 - कोर्ट में पेशी के बाद पटना के बेऊर जेल भेजे गए अनंत सिंह
August 25, 2019 - तेजस्वी के कमबैक को झटका, शिवानंद तिवारी-भाई वीरेंद्र ने बनाई दूरी
August 25, 2019 - अरुण जेटली को लेकर लालू यादव ने बताई दिल की बात

मुंडन के लिए सहरसा पहुंचे सुशांत सिंह, कहा काम को भगवान माना इसलिए मिली सफलता

शेयर कर और लोगों तक पहुंचाए

बिहारी बॉलीवुड अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत करीब 20 साल बाद फिल्म शूटिंग को छोड़कर सहरसा अपने भैया-भाभी के यहां पहुंचे थे. सोमवार की सुबह नया बाजार स्थित भाजपा विधायक नीरज कुमार बबलू के आवास पर जागरण से उन्होंने विशेष बातचीत की.

सुशांत ने बताया कि अपने भाई की शादी में बीस वर्ष पहले वे सहरसा आए थे. उन्होंने कहा कि मां की मनौती को पूरा करने वे ननिहाल भी गए. टीवी और फिल्म के बीच छोटे-बड़े पर्दे के बीच उन्होंने सपाट लहजे में कहा कि कोई छोटा-बड़ा नहीं होता है. अभिनय महत्वपूर्ण होता है.

सुशांत कहते हैं कि उनका कोई गॉडफादर नहीं है। उन्होंने अपने काम से प्यार किया है और उसे ही भगवान माना है। उन्होंने बताया कि वे बचपन से मार्क्स के पीछे नहीं, बल्कि सही सोच के पीछे रहे हैं। उनके लिए बस मां-बाप का प्यार व आर्शीवाद ही मेरी सफलता का मूलमंत्र है.

पूछने पर बताया कि वे अभी भी नाटक करना चाहते हैं। रंगमंच उनके जीवन का हिस्सा है। नाटक कोर्ट मार्शल, मृत्युंजय में अभिनय कर चुके अभिनेता सुशांत कहते हैं कि कोई सोच छोटी- बड़ी नहीं होती है, बल्कि लोगों को सपने बड़े देखने चाहिए.

बचपन से ही सुशांत को अभिनय करने का शौक था। इसीलिए दिल्ली में इंजीनियरिंग की पढाई तीन साल बाद छोड़कर वे सीधे निदेशक मैरी जॉन सर के पास गए और अभिनय सीखने लगे. उनके साथ कई नाटक करने का मौका मिला। नाटक के दौरान ही अभिनय की बारीकियों को सीखा और तब जाकर टीवी सीरियल की ओर रुख हुआ.

पवित्र रिश्ता सीरियल में एक पहचान कायम हुई तो फिल्म का ऑफर मिला। बताया कि वे कोई भी फिल्म सोच-समझकर ही करते हैं. फिल्म में मनोरंजन ही नहीं, बल्कि उस फिल्म के जरिये समाज के लिए एक संदेश रहता है जिससे जनता को नई राह मिलती है.

बालीवुड अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की चर्चित फिल्मों में क्रिकेटर एमएस धोनी के जीवन पर बनी फिल्म एमएस धोनी, केदारनाथ एवं सोन चिडिय़ा, राब्ता शामिल है. वहीं आनेवाली फिल्मों में ड्राइव, छिछोरे सहित अन्य हैं.

बालीबुड के चर्चित स्टार सुशांत सिंह राजपूत सोमवार को अपने ननिहाल जिले के चौथम प्रखंड क्षेत्र अंतर्गत पूर्वी बौरने पंचायत के बौरने गांव स्थित मां मनसा देवी के दरबार में पहुंचकर अपना मुंडन संस्कार कराया. गांव तक पहुंचने के लिए सुशांत सिंह राजपूत को नाव का सहारा लेना पड़ा.

सिनेस्टार सुशांत सिंह राजपूत के स्वागत भी गांव में गाजे-बाजे के साथ किया गया. गांव पहुंचते ही सुशांत सिंह राजपूत गांव का प्रसिद्ध मनसा देवी मंदिर पहूंचे और पूजा अर्चना करने के बाद अपना मुडंन संस्कार करवाया। दरअसल सुशांत सिंह राजपूत का ननिहाल बोरने गांव में है.

इस दौरान मीडिया से बात करते हुए सुशांत सिंह राजपूत ने कहा कि खगड़िया के बोरने गांव मेरा ननिहाल है और मेरी मां ने मनसा देवी मंदिर में मन्नत मांगी थी जिसे पूरा करने के लिए मैं यहां आया हूं. मैं बिहार का हूं और अपने राज्य के लिए कुछ करना चाहता हूं. इसके लिए प्रयास कर रहा हूं.

शेयर कर और लोगों तक पहुंचाए
Tagged with:

About author

Leave a reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *