Input your search keywords and press Enter.

बोलबम व हर हर महादेव से गुंजायमान हुआ विघापतिधाम


फोटो : विघापतिधाम मंदिर परिसर में उमड़ी श्रध्दालुओं की भीड़

पदमाकर सिंह लाला( समस्तीपुर)

मिथिलांचल के सुप्रसिद्ध व त्रयोदश ज्योर्तिलिंग के रूप में पूजे जाने वाले भक्त व भगवान की नगरी विद्यापतिधाम में सावन मास की अंतिम सोमवारी पर आस्था का जन सैलाब उमड़ पड़ा.जहां आस्थावान भक्त व रंग- बिरंगे भगवा परिधानों में सजे श्रद्धालुओं का जत्था अल सुबह से ही देर शाम तक जलाभिषेक को उमड़ता रहा.बोल बम व हर हर महादेव के गगनभेदी जयघोष से पूरा वातावरण शिवमय बना रहा.करीब दो लाख से अधिक श्रद्धालु भक्तों ने जलाभिषेक के साथ पूजा – पाठ कर सुख शांति व मनोकामना मांगी.इस बीच प्रशासन की चाक चौबंद व्यवस्था की वजह से श्रद्धालुओं को जलार्पण में सुविधा मिली.कावरियों को सुगम तरीके से जलाभिषेक कराने के लिए प्रशासन ने दो तरह की कतारों की व्यवस्था करायी थी.थानाध्यक्ष मुकेश कुमार,अंचलाधिकारी विरेंद्र कुमार स्वयं इसकी मानिटरिंग करते दिखे.

Loading...

वहीं एसआई चन्द्रमोहन सिंह, एएसआई सुरेंद्र सिंह, विनय कुमार पासवान, शंभू सिंह , सुनील राय सहित अन्य महिला व पुरुष बलों को दिन भर भीड़ नियंत्रण करने में काफी मशक्कत करनी पड़ी.अल सुबह से ही भक्त श्रद्धालु निकटवर्ती पुराणों में वर्णित राजा जनक घाट (चौमथ घाट) सिमरिया घाट, झमटिया घाट, राम घाट, अखाड़ा घाट आदि से गंगा का पवित्र जल भर कर कांवर यात्रा निकाली व उगना महादेव विद्यापति धाम पर जलाभिषेक किया.वहीं सिमरी गांव सहित श्री विमलेश्वर महादेव शिव मंदिर पर भी श्रद्धालुओं की अच्छी भीड़ देखी गयी.भारी संख्या में सोमवारी व्रत रखने वाली महिलाओं द्वारा भी पूजा-अर्चना की गई.विद्यापति धाम मंदिर में मुख्य पंडा गणेश गिरी कवि व अमरनाथ गिरि के नेतृत्व में पंडा समाज ने देर शाम भोले बाबा का विशेष श्रृंगार किया.इसमें फूल, बेलपत्र, दूध, जल, मधु मखाना, ताम्बूल, भाग-धतूरा से विशेष श्रृंगार व पूजा संपन्न हुई.मंदिर परिसर स्थित रेलवे स्टेशन परिसर सहित दो किलोमीटर परिक्षेत्र तक भीड़ इतनी थी कि प्रशासन को भीड़ का नियंत्रित करने में प्रशासन को काफी दिक्कतें आई.

गोस्वामी समाज के रत्नशंकर भारद्वाज सीसीटीवी फुटेज पर दिनभर नजर बनाए हुए थे.इसके अलावे भारी संख्या में महिला व पुरुष बलों भी सादे लिबास में रहकर असामाजिक तत्वों पर कड़ी नजर रखी जा रही थी.मौके पर पंडा समाज के गणेश गिरी कवि, रत्न शंकर भारद्वाज, सतीश गिरी, नवल किशोर गिरी, चतुरानन गिरी, नन्हें गिरी, पूर्व मुखिया कैलाश पासवान, सीडीपीओ सुनीता कुमारी आदि सक्रिय दिखे.

Leave a Reply

Your email address will not be published.