Breaking News
July 17, 2019 - अब मुखिया जी हुए पावरफुल, वाटर मैनेजमेंट के लिए मिले कई अधिकार
July 17, 2019 - इन 18 एजेंडों पर बिहार कैबिनेट में लगी मुहर
July 17, 2019 - बीजेपी खुलकर कर रहा आरएसएस का गुणगान, निखिल आनंद ने दिया ये बयान
July 17, 2019 - अब देश भर में बांधों की सुरक्षा के लिए बनेगा नया कानून
July 17, 2019 - सुशील मोदी का पलटवार, तब लालटेन पार्टी ने नाव से बाढ़ सर्वे का सुझाव क्यों नहीं दिया था
July 17, 2019 - राबड़ी देवी बोली, गठबंधन के दोनों दलों में विश्वास की कमी शुरू से ही रही
July 17, 2019 - सच्चिदानंद राय बोले, नीतीश की नीयत में शुरु से ही है खोट
July 17, 2019 - राबड़ी देवी ने नीतीश कुमार पर सही जानकारी नहीं देने का लगाया आरोप
July 17, 2019 - RSS समेत 19 हिंदू संगठनों की जानकारी जुटा रही नीतीश सरकार, बीजेपी गंभीर
July 17, 2019 - बाढ़ से पीड़ित परिवारों को छः हजार रूपये की मदद देगी नीतीश सरकार

शाह से टकराना महंगा पड़ा ममता को, बंगाल में प्रचार पर रोक, गृह सचिव तक को हटा दिया गया

शेयर कर और लोगों तक पहुंचाए

पश्चिम बंगाल में बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह के रोड शो के दौरान हुई हिंसा पर चुनाव आयोग ने सख्त कदम उठाया है. आयोग ने बंगाल में गुरुवार रात 10 बजे से चुनाव प्रचार पर रोक लगा दी है. इसके अलावा आयोग ने राज्य के प्रधान सचिव और गृह सचिव की छुट्टी कर दी गई है.

आयोग ने सोशल मीडिया पर वीडियो डालने पर भी बैन लगा दिया है. बंगाल के ADG CID राजीव सिंह को गृह मंत्रालय भेजा गया है. राज्य में 19 मई को 9 सीटों पर वोट डाले जाने हैं. उससे पहले ही आयोग ने बड़ी कार्रवाई की है.

वहीं ईश्वरचंद विद्यासागर की मूर्ति खंडित होने पर आयोग ने सख्त नाराजगी जताई है. चुनाव आयोग ने कहा कि इस प्रकार की हिंसा फिर से हुई तो और सख्त कदम उठाए जाएंगे. राज्य की 9 सीटों पर प्रचार की अवधि शुक्रवार शाम पांच बजे तक थी, लेकिन आयोग ने एक दिन पहले ही इसे खत्म कर दिया.

मंगलवार की शाम कोलकाता में बीजेपी के अध्यक्ष अमित शाह के रोड शो में हिंसा के बाद आज पश्चिम बंगाल से लेकर दिल्ली तक सियासत सुलग उठी है. टीएमसी ने ईश्वरचंद विद्यासागर की मूर्ति खंडित होने को भावनात्मक मुद्दा बना लिया. वहीं बीजेपी और टीएमसी दोनों एक दूसरे पर मूर्ति खंडित करने का आरोप मढ़ रही हैं. वामपंथी दलों का कहना है कि बीजेपी और टीएमसी के झगड़े में पूरा बंगाल जल रहा है.

शेयर कर और लोगों तक पहुंचाए

About author

Leave a reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *