Input your search keywords and press Enter.

कठुआ रेप केस: दिल्ली फॉरेंसिक लैब की रिपोर्ट ने केस का किया बड़ा खुलासा

न्यूज़ डेस्क: राजनीतिक आग में जल रहा कठुआ रेप केस में फॉरेंसिक रिपोर्ट ने नया खुलासा कर केस को और भी जादा मजबूत बना दिया है. दिल्ली की फॉरेंसिक लैब (FSL) ने तमाम सबूतों की जांच की है और उनको सच माना है. एफएसएल की रिपोर्ट में इस बात की पुष्ट‍ि की गई है कि मंदिर में मिले खून के धब्बे पीड़िता के ही हैं. इससे इस बात की लगभग पुष्ट‍ि हो जाती है कि आठ साल की बच्ची से मंदिर के अंदर ही बलात्कार किया गया.

दिल्ली से आये एस रिपोर्ट ने इसकी तो पुष्टि कर दी है की नाबालिक का रेप मंदिर के अन्दर ही हुआ था साथ ही रिपोर्ट में यह भी साफ हो गया की मंदी से मिले बल का डीएनए प्रोफाइल एक आरोपी शुभम सांगरा से मिलती है. इससे यह भी साफ हो जाता है कि यह आरोपी उस वक्त वहा मौजूद था.

Loading...

रिपोर्ट में इस बात की भी पुष्टि हुई है कि पीड़िता के कपड़ों पर मिले खून के धब्बे उसके डीएनए प्रोफाइल से मैच करते हैं. इसके साथ ही, दिल्ली एफएसएल ने पीड़िता के यौनांग में भी खून पाए जाने की बात पुष्ट की है. कठुआ मामले की जांच कर रही जम्मू-कश्मीर पुलिस की विशेष जांच टीम (SIT) को जांच में अड़चन का का सामना करना पड़ रहा था क्योंकि उसे जो सबूत मिले थे, वह आरोपियों को दोषी साबित करने के लिए पर्याप्त नहीं थे.

आरोपियों ने कथित तौर से कुछ स्थानीय पुलिस कर्मियों के साथ मिलकर पीड़िता के कपड़े धुले थे ताकि सबूत को नष्ट किया जा सके. राज्य का फॉरेंसिक लैब भी कपड़ों पर खून के धब्बे तलाशने में विफल रहा था. इसकी वजह से एसआईटी आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज नहीं कर पा रही थी.


Widget not in any sidebars

Leave a Reply

Your email address will not be published.