Input your search keywords and press Enter.

भारत मे oxford-AstraZeneca की कोवीड वैक्सीन को सीरम इंस्टीट्यूट के दूसरे और तीसरे फेज़ के ट्रायल के लिए मिली मंजूरी

ड्रग्स कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया (DCGI)ने सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (SII) को कोरोना वैक्सीन के दूसरे और तीसरे चरण के परीक्षणों को फिर से शुरू करने की मंजूरी दी. भारतीय औषधि महानियंत्रक (डीसीजीआइ) डा.वीजी सोमानी ने सीरम इंस्टीट्यूट आफ इंडिया (एसआइआइ) को देश में आक्सफोर्ड की वैक्सीन का ट्रायल फिर से बहाल करने की अनुमति दे दी है।उल्लेखनीय है इस वैक्सीन का कई देशों में दूसरे और तीसरे चरण का ट्रायल चल रहा है। एक वालंटियर की तबियत बिगड़ने पर इस वैक्सीन का ट्रायल रोक दिया गया था, डीसीजीआइ ने भारत में भी इसका ट्रायल रोक दिया था। हालांकि ब्रिटेन में निजी जांचकर्ताओं द्वारा इस वैक्सीन को सुरक्षित बताए जाने पर शनिवार को ही ट्रायल शुरू करने को अनुमति दे दी गई थी। सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (Serum Institute Of India) के DGCI ने विपरित परिस्थतियों से निपटने में नियम के अनुसार तय इलाज की भी जानकारी जमा करने को कहा है. उधर, रूस में विकसित कोरोना की वैक्सीन (Russia’s Covid-19 Vaccine Sputnik V) का भी अब भारत में उत्पादन की योजना पर काम चल रहा है. रूस ने दुनिया में सबसे पहले कोरोना की वैक्सीन बनाने का दावा किया है. भारत में पशुओं और इंसानों के लिए वैक्सीन बनाने वाली हैदराबाद की कंपनी Indian Immunologicals Ltd इस बारे में रूसी कंपनी से बातचीत कर रही है.