Input your search keywords and press Enter.

मराठा आरक्षण फिर हुआ हिंसक, युवक की आत्महत्या के बाद बवाल

पुणे/मुंबई. मराठा आरक्षण की मांग को लेकर औरंगाबाद में युवक की आत्महत्या के बाद मंगलवार को महाराष्ट्र के कई जिलों में हिंसक प्रदर्शन हुआ. मराठा क्रांति मोर्चा ने आज महाराष्ट्र बंद का ऐलान किया है. मोर्चा ने मांग पूरी करने के लिए सरकार को 2 दिन का वक्त दिया. आंदोलन का मिलाजुला असर करीब-करीब पूरे राज्य में है. परभणी, अहमदनगर में प्रदर्शनकारियों ने सरकारी वाहनों में तोड़फोड़ और आगजनी की. औरंगाबाद में हिंसा के बाद इंटरनेट सेवा बंद कर दी गई. मराठवाड़ा के 8 जिलों में ऐहतियातन ज्यादातर प्राइवेट स्कूल-कॉलेज बंद रखे गए हैं. पिंपरी चिंचवाड़ में मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस के कार्यक्रम में प्रदर्शन कर रहे 20 लोगों को हिरासत में लिया गया.

आंदोलनकारी अन्य पिछड़ा वर्ग के तहत मराठा समुदाय के लिए सरकारी नौकरियों और शिक्षा में 16 प्रतिशत आरक्षण की मांग कर रहे हैं. यह मामला बॉम्बे हाईकोर्ट में लंबित है.

Loading...

औरंगाबाद में सांसद से हाथापाई :आत्महत्या करने वाले युवक का अंतिम संस्कार मंगलवार को किया गया. यहां शिवसेना सांसद चंद्रकांत खैरे पहुंचे. लोगों ने उनकी गाड़ी पर पथराव कर दिया और हाथापाई भी की. सरकार ने युवक के परिजनों को 10 लाख मुआवजा और एक सदस्य को सरकारी नौकरी देने का ऐलान किया है.

पुणे-औरंगाबाद हाईवे पर बसों का संचालन बंद : परभणी में आंदोलन हिंसक हो गया, यहां सोमवार को भी बसें फूंकी गई थीं. अहमदनगर में सरकारी बसों पर पथराव किया गया. औरंगाबाद समेत कुछ जिलों में हिंसा की सूचना के बाद स्कूल हाफ टाइम के बाद बंद कर दिए गए. पुणे-औरंगाबाद हाईवे पर सरकारी बसें नहीं चलाई जा रही हैं. पुणे समेत कई शहरों में हाईवे पर पुलिसबल तैनात किया गया.

मराठा समुदाय को गुमराह कर रहे हैं मुख्यमंत्री- राज ठाकरे : महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (मनसे) प्रमुख ने कहा, “मुख्यमंत्री झूठ बोल रहे हैं. वह यह कहकर लोगों को गुमराह कर रहे हैं कि अगर मुंबई हाईकोर्ट समुदाय के लिए आरक्षण को मंजूरी देती है तो सरकार बैकलॉग के रूप में मराठा उम्मीदवारों को 72,000 पदों में से 16 प्रतिशत पद आवंटित कर देगी. वह आम लोगों को गुमराह कर रहे हैं.”


Widget not in any sidebars

Leave a Reply

Your email address will not be published.