Input your search keywords and press Enter.

शत्रुघ्न सिन्हा का बड़ा बयान, लोग कह रहे हैं इस बार लोकसभा में बीजेपी को मात्र इतनी सीट मिलेगी…

shatrughan sinha

फाइल फोटो

न्यूज़ डेस्क: भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ सांसद व फिल्म अभिनेता शत्रुघ्न सिन्हा ने एक बार फिर बागी रवैया अपनाते हुए बीजेपी पर हमला बोला है. न्यूज़ चैनेल एबीपी को दिए साक्षात्कार में कहा है कि किसी भी पार्टी के लिए ये जानना अरूरी है कि व्यक्ति से बड़ी पार्टी और पार्टी से बड़ा देश होता है.

कोई भे देश का पीएम बन सकता है अगर उसके पास संख्या बल हो. मोदी सरकार के द्वारा लिए गए फैसले पर बिहारी बाबू का कहना है कि, ”किसी भी पार्टी के लिए ये जानना अरूरी है कि व्यक्ति से बड़ी पार्टी और पार्टी से बड़ा देश होता है. मैं हमेशा सरकार की बुराई नहीं करता हूं. मैं हमेशा श्वेत को श्वेत और काले को काला कहने के लिए बदनाम हूं. अगर नोटबंदी से लोग बेरोजगार हुए तो कहा, अगर GST से कोई फायदा नहीं है तो क्यों लागू की गई है? किस देश को फॉलो कर रहे हैं? आधार अगर निराधार है तो कहूंगा, आज भी कोर्ट इस पर किसी नतीजे पर नही पहूच पाया है फिर भी आईटीआर फाइल करने के लिए आधार ज़रूरी क्यों है?”

Loading...

अपने बेबाक बयानों से पार्टी नेताओं के निशाने पर रहने वाले बिहारी बाबू ने कहाहाई कि, ”जब मैं किसी की तारीफ करता हूं तो इसका मतलब ये होता है कि हमारा विरोधी हमारा दुश्मन नही है. मैं मायावती का कद्रदान हूं, अखिलेश यादव कम उम्र में काफी अच्छा कर रहे हैं. जो हमारे आदरणीय नेता गण हैं वे चाहे किसी भी दल के हो अच्छे को अच्छा कहना चाहिए. मैं तेजस्वी से मिलने गया था बड़ा समझदारी से वो हालात को हेंडल कर रहे हैं.. मैं तो दुआ करूंगा कि लालू यादव को ऊपर के कोर्ट से जल्द राहत मिले.”

बिहार में हुए दंगों पर सूबे की नीतीश सरकार पर जमकर बरसते हुए कहते हैं,”सुशासन बाबू दंगे कंट्रोल नहीं कर पा रहे हैं. उस पर अभी देखना होगा कि दंगे वाकई में कंट्रोल नहीं हो पा रहे हैं या मीडिया में ज़्यादा हाइप है. लेकिन किसी भी किस्म का दंगा, जाति के आधार पर, धर्म के आधार पर नहीं होना चाहिए. इसलिए चाहते हैं कि इस तरह के माहौल को शुरू ठोक-बजाकर कर खत्म कर देना चाहिए. मैं हर दंगे की भर्त्सना करता हूं. जब किसी को भी चोट पहुंचती है तो भारत मां को चोट पहुंचती है. ममता बनर्जी से शिष्टाचार की मुलाकात है. वे बहूत बड़ी ज़मीनी नेता हैं लेकिन जब तक मैं उनसे मिला तब तक मैंने दंगे के बारे में सुना नहीं था.”

पीएम मोदी के अलावे किसी अन्य को पीएम बंनने को लेकर कहते हैं कि, ”मोदी के सामने कोई खड़ा हो सकता है नहीं ये कहना अभी मुश्किल है. कोई भी नेता पीएम बन सकता है अगर उसे पास संख्या बल हो. जनता जनार्दन के बीच से जीत कर आते हैं. जैसा कि लोग कह रहे हैं कि अगले चुनाव में 100 या 150 सीटें कम हो जाएंगी. अगर चंद लम्हों के लिए मान लें कि सीटें कम आएगी तो कौन पीएम होगा? अगर सीटें कम आएगी तो नया समीकरण बनेगा, नया नेतृत्व आएगा, नई सोच आयेगी. सब नया होगा.”

Leave a Reply

Your email address will not be published.