Input your search keywords and press Enter.

ओरल सेक्स से सम्बंधित इन बातों में नहीं हैं सच्चाई

cute couple

सेक्शुअल हेल्थ एक्सपर्ट्स की मानें तो बेहतर हाइजीन का ख्याल रखकर आप ओरल सेक्स को भी रेग्युलर प्रैक्टिस के तौर पर अपना सकते हैं. स्टेट यूनिवर्सिटी ऑफ न्यू यॉर्क के अनुसंधानकर्ताओं ने हाल ही में एक स्टडी की जिसके नतीजे बताते हैं कि महिलाओं की सेहत पर ओरल सेक्स का पॉजिटिव असर पड़ता है. ऐसे में हम आपको बता रहे हैं ओरल सेक्स से जुड़ी उन बातों के बारे में जिनमें कोई सच्चाई नहीं है और आपको उन पर बिलकुल यकीन नहीं करना चाहिए.

Loading...

आंकड़ों पर नजर डालें तो सिर्फ एक तिहाई महिलाएं ऐसी हैं जो इंटरकोर्स के दौरान ऑर्गैज्म महसूस करती हैं, बाकी को ऑर्गैज्म हासिल करने के लिए ओरल सेक्स या फिर मैनुअली उत्तेजित करने की जरूरत होती है. एक्सपर्ट्स की मानें तो ऑर्गैज्म आपके मनोदशा पर निर्भर करता है. आप पार्टनर के साथ जितनी ज्यादा नजदीकियां महसूस करेंगे, आपके क्लाइमैक्स हासिल करने का चांस उतना ही ज्यादा बढ़ जाएगा.

एक्सपर्ट्स की मानें तो ओरल सेक्स से पहले ब्रश करने से इंफेक्शन का चांस और ज्यादा बढ़ जाता है. ऐसा इसलिए क्योंकि ब्रश के जरिए दांतों को साफ करने के दौरान मुंह में बारिक कट्स रह जाते हैं जिससे आसानी से बैक्टीरिया और वायरस खून के जरिए शरीर में पहुंच सकते हैं.


Widget not in any sidebars

Leave a Reply

Your email address will not be published.