Input your search keywords and press Enter.

यहाँ भगवान के दरबार में चढ़ रहे 500-1000 के नोट

mandir

mandir

नोटबंदी को एक साल बीत चुका है लेकिन पुरी स्थित भगवान जगन्नाथ मंदिर प्रशासन यह निर्णय नहीं कर पा रहा है कि वह उन 18 लाख रुपये का क्या करे जो उसे चलन से बाहर हुए 500 रुपये और 1000 रुपये दान में मिले हैं. श्री जगन्नाथ मंदिर प्रशासन के प्रशासक प्रदीप कुमार दास ने कहा, ‘हम दानपात्र में मिले करीब 18 लाख रुपये का इस्तेमाल नहीं कर पा रहे हैं. ये चलन से बाहर हो चुके 500 और 1000 रुपये के नोट में हैं.’ मंदिर को ये नोट पुराने नोट को बदलने के लिए आरबीआई की 31 दिसम्बर 2016 की समयसीमा समाप्त होने के बाद मिले.

Loading...

दास ने कहा कि यद्यपि तब एसजेटीए ने रिजर्व बैंक को कई पत्र लिखकर मामले पर विचार करने का अनुरोध किया था लेकिन उसे केंद्रीय बैंक से कोई सकारात्मक प्रतिक्रिया नहीं मिली. सूत्रों ने बताया कि अभी भी प्रत्येक दिन मंदिर को दान के रुप में जो करीब तीन लाख रुपये मिलते हैं उसमें से करीब 3000 से पांच हजार रुपये चलन से बाहर हो चुके नोट होते हैं.

यह भी पढ़ें:
शराब के धंधेबाज कड़े कानून के बाद भी नहीं आ रहे बाज, विदेशी शराब हुआ….

शराब पीकर नशे में थाना पहुँचे थानेदार साहब, हंगामा करने पर एसएसपी ने सीधा भेजा…

शिव मंदिर से गिरा मज़दूर, इलाज के दौरान हुई…

इस न्यूज़ को शेयर करे तथा कमेंट कर अपनी राय दे.
[shareaholic app=”share_buttons” id=”18820564″]

Leave a Reply

Your email address will not be published.