Input your search keywords and press Enter.

सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर बिहार में अरबों रूपये का शराब…..

alcohol
alcohol

file photo

न्यूज़ डेस्क : बिहार में आज सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद शराब नष्ट करने का काम पूरा कर लिया गया. 100 करोड़ से अधिक कीमत की शराब को पूर्ण रूप से नष्ट करने में 12 दिन का समय लग गया. इतने रूपये का शराब नष्ट सीवान के पचरुखी स्थित गोपालपुर के बिहार बोटलर्स एन्ड ब्लंडर्स प्राइवेट लिमिटेड में किया जा रहा था.

सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर फैक्ट्री में शराब नष्ट करने का काम 25 अगस्त से चल रहा था और आज जाकर ख़त्म हो गया. 12 दिनों से देर रात तक करीब 4 दर्जन से अधिक मजदूर शराब नष्ट करने के काम में जुटे थे. शराब नष्ट करने की प्रक्रिया में किसी प्रकार की कोताही न हो इसके लिए जिला प्रशासन की तरफ से फैक्ट्री में दो मजिस्ट्रेट की तैनाती की गई है.

Loading...

इसके साथ ही उत्पाद विभाग की निगरानी में 50 से अधिक मजदूर और एक जेसीबी मशीन का सहारा लिया गया था. जिसके बाद प्रक्रिया को धीमा पड़ता देख रोलर का सहारा लिया गया था. यहाँ बता दें कि शराबबंदी के बाद शराब कारोबारी बंदी से पहले तक स्टॉक हो चुके शराब की दूसरे राज्यों में बिक्री की अनुमति के लिए सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया था. कोर्ट का फैसला कारोबारियों के पक्ष में आया और शराब को दूसरे राज्यों में बिक्री के लिए दो महीना का समय निर्धारित कर दिया गया. जिसके बाद एक बार फिर से मोहलत को तीन महीने के लिये और बढ़ा दिया गया था.पर कारोबारी नियत तिथी तक स्टॉक नही हटा पाए थें.

यह भी पढ़ें:
अब बिहार में कुत्ते ढूंढेंगे शराब!

बिहार बेवरेज कॉर्पोरेशन के गोदाम से शराब चोरी, प्रशासन द्वारा नष्ट करने का आदेश…

अभी अभी : बिहार के शराब निर्माताओं को सुप्रीम कोर्ट ने दिया तगड़ा झटका

इस न्यूज़ को शेयर करे तथा कमेंट कर अपनी राय दे.
[shareaholic app=”share_buttons” id=”18820564″]

Leave a Reply

Your email address will not be published.