Input your search keywords and press Enter.

शर्मनाक घटना, महिला को बंधक बनाकर बेच दिया दुधमुंहा बच्चा…

mother kid

mother kid


विकाश कुमार गुप्ता, मुजफ्फरपुर संवाददाता. मुजफ्फरपुर जिले के पारु प्रखंड के जैतपुर ओपी क्षेत्र के बसरा चौक स्थित अर्चना नर्सिंग होम में एक महिला को बंधक बनाकर उसके दुधमुंहे बच्चे को बेच देने वाले गिरोह का भंडाफोड़ घटना के छठे दिन किया गया. पुलिस ने काफी मकसद के बाद हाजीपुर में जाल बिछाकर बच्चे के खरीदार को भी दबोच लिया. बता दे की उससे 13 माह के मासूम बच्चे को भी बरामद किया गया है जिसे 1.80 लाख में बेचा गया था. बच्चा उसके माता-पिता पारू रघुनाथपुर निवासी रेखा देवी व गरीबनाथ राय के हवाले कर दिया गया है.

इस मामले में पुलिस द्वारा तीन लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है. गिरफ्तार नर्सिंग होम संचालक रामचंद्र ठाकुर, नर्स चंदा देवी, बच्चे का खरीदार पिंटू कुमार से पूछताछ चल रही है. बच्चे की खरीद-बिक्री में सक्रिय भूमिका निभाने वाले रामबाबू दास की तलाश में छापेमारी चल रही है.

Loading...

ऐसे बरामद हुआ बच्‍चा
गिरफ्तार नर्स चंदा देवी से सख्ती से पूछताछ की गई तो उसने बच्चा बेचने की बात कबूल ली. पुलिस दबाव बढ़ने पर उसने मोबाइल पर रामबाबू दास से बात की. बच्चे को हर हाल में लौटाने को कहा. उसके बाद रामबाबू ने बच्चे के खरीदार पटना जिले के धनरूआ थाना क्षेत्र के मसौढ़ी रघुनाथपुर गांव निवासी पिंटू कुमार को अपने झांसे में लिया. उसे और सुंदर दूसरा बच्चा देने को कहा. पिंटू को हाजीपुर के रामाशीष चौक स्थित महावीर मंदिर के पास बुलाया. पुलिस पहले से वहां मोर्चा संभाल चुकी थी. पिंटू के आते ही उसे दबोच लिया गया. बच्चा भी बरामद कर लिया गया. चंदा देवी के पास से 95 हजार रुपये भी बरामद किया गया है.

पारू के रघुनाथपुर गांव निवासी रेखा देवी व गरीबनाथ राय के पड़ोस में ही चंदा देवी रहती है. यहां उसका मायके है. इसी गांव में रामबाबू दास का ससुराल है. वह पिछले 12 वर्षों से यहीं रहता है. चंदा यहीं से जैतपुर बसरा चौक स्थित अर्चना नर्सिंग होम में काम करने जाती है.
ऐसे चोरी किया बच्‍चा

पारु थाने के रघुनाथपुर गांव की गरीबनाथ राय की पत्नी रेखा देवी 19 सितम्बर को फसल देखने गई थी. रास्ते में रामबाबू और चंदा ने उसे झांसा देकर कार में बैठा लिया. उसे नर्सिंग होम ले गये. वहीं एक कमरे में उसे तीन दिनों तक बंद रखा. उसके बच्चे को छीनकर आरोपितों ने बेच दिया. बाद में रेखा देवी को बच्चा तिनसुकिया में होने की बात कह उसे लाने के लिए ट्रेन में बैठा दिया गया. तिनसुकिया में रेखा का मायके है. टिकट दिल्ली का था, टीटीई ने ट्रेन से उतार दिया.

[related_posts_by_tax title=”रिलेटेड न्यूज़:” posts_per_page=”3″]
इस न्यूज़ को शेयर करे और कमेंट कर अपनी राय दे.
[addtoany]

Leave a Reply

Your email address will not be published.