Input your search keywords and press Enter.

पटना GPO में शराब पकड़े जाने पर बुरी फंसी नीतीश सरकार, PIL दायर करने वाले वकील सेंगर ने कहा…

nitish_kumar
nitish_kumar

फ़ाइल फ़ोटो

न्यूज़ डेस्क: बिहार में पूर्ण शराबबंदी लागू है. राज्य में लगातार शराब पकड़े जाने का सिलसिला जारी है. लेकिन फिर भी शराब पीने वालों की लत नहीं गई है. लाख दावे करने के वाबजूद शहर खासकर राजधानी में शराब का सेवन किया जा रहा है. राजधानी पटना स्थित जीपीओ में शाम जलसा चल रहा था की तभी मौके पर पहुंची पुलिस ने जलसे में खलल डाल दिया.

इस दौरान पुलिस ने मौके से चार डाकपाल को शराब पिते हुए गिरफ्तार किया. गिरफ्तार लोगों में एरिक अनिल, अमित कुमार, राजीव कुमार और नवल किशोर शामिल हैं. इस छापेमारी के दौरान पुलिस ने शराब के कई बोतल भी मौके से बरामद किया है. गिरफ्तार किये गये चारो लोग जीपीओ में डाकपाल के पद पर कार्यरत हैं. पुलिस ने यह छापेमारी गुप्त सुचना के आधार पर की थी.

Loading...

शराबबंदी कानून के अनुसार जीपीओ में शराब पकड़े जाने के बाद अब सरकार पर भी सवाल खड़े होने शुरू हो गए हैं. जनहित याचिका दायर करने के प्रसिद्ध पटना हाईकोर्ट में अधिवक्ता मणिभूषण सेंगर ने कहा है कि बिहार मे शराबबंदी कानून के हिसाब से जिस भी भवन या मकान में शराब पाया जाता है उस जगह को सरकार सीज कर लेगी. ऐसा बहुत बार हुआ भी है बिहार में हाल में तब क्या GPO मे शराब पकड़ा जाने के बाद GPO को भी बिहार सरकार सीज करेगी? और करना भी चाहिए नहीं तो यह आम जनता और कानून दोनों के साथ खिलवाड़ होगा. सेंगर ने यह भी कहा है कि अगर ऐसा नहीं होता है तो बिहार सरकार फिर एक PIL के लिए तैयार रहे.

filr photo


इस न्यूज़ को शेयर करे और कमेंट कर अपनी राय दे.

[shareaholic app=”share_buttons” id=”18820564″]

Leave a Reply

Your email address will not be published.