Input your search keywords and press Enter.

बाल विवाह और दहेज प्रथा जैसे कुरीतियों को समाज से हटाने के लिए उठाया गया एक और कदम

हितेश कुमार : राज्य में क्रिकेट को बढ़ावा देने के लिए बिहार क्रिकेट एसोसिएशन लगातार प्रयत्नशील है. इसी कड़ी में बीसीए के सचिव आदित्य वर्मा ने प्रेस वार्ता आयोजित कर महिलाओं को क्रिकेट में भागीदारी बढ़ाने के लिए एसोसिएशन को प्रयासरथ है. उन्होंने कहा कि एसोसिएशन लगातार इस दिशा में कार्य कर रहा है. आगामी 24 नवंबर से 26 नवंबर तक पटना के उर्जा क्रिकेट स्टेडियम शास्त्री नगर में अखिल भारतीय महिला क्रिकेट चैंपियनशिप 2017 का आयोजन किया जाएगा.

बिहार बंगाल एवं दिल्ली की टीमें 23 नवंबर को ही पटना पहुंचेगी. 3 दिनों की यह प्रतियोगिता लीग के आधार पर कराया जाएगा, जो टीम टॉप पर होगी उसे विजेता बनाया जाएगा. उन्होंने कहा कि इस तरह के प्रतियोगिताओं के आयोजन का मुख्य उद्देश बाल विवाह और दहेज प्रथा जैसे कुरीतियों को समाज से दूर हटाना है. बिहार बंगाल और दिल्ली की टीमों के आगमन के पश्चात 24 नवंबर को सुबह प्रभात फेरी का आयोजन किया जाएगा.

Loading...

जिसमें बेटी पढ़ाओ बेटी खिलाओ और भारत का प्रतिभा अंतरराष्ट्रीय स्तर पर बढ़ाओ का संदेश दिया जाएगा. फाइनल मैच के अवसर पर भारतीय महिला क्रिकेट टीम के पूर्व या वर्तमान खिलाड़ी को बुलाकर इस टूर्नामेंट में शामिल खिलाड़ियों को सम्मानित कराया जाएगा. इस प्रेस वार्ता में संघ के सचिव आदित्य वर्मा, कार्यकारी अध्यक्ष प्रेम रंजन पटेल, वीनस अल्का, नीरज वर्मा, संजय कुमार समेत सीआईडी के अधिकार और खिलाड़ी भी मौजूद हैं.

यह भी पढ़ें:
चारा घोटाले मामले में बड़ा खुलासा, ऐसे पैसे लेते थे लालू…

पटना हाईकोर्ट ने दी बिहार सरकार को एक बड़ी राहत, अब….

शिक्षक को शौच की निगरानी करने वाले आदेश पर भड़का शिक्षक संघ, किया बड़ा ऐलान….

इस न्यूज़ को शेयर करे तथा कमेंट कर अपनी राय दे.
[shareaholic app=”share_buttons” id=”18820564″]

Leave a Reply

Your email address will not be published.