Input your search keywords and press Enter.

फूलपुर लोकसभा सीट से खड़े उम्मीदवार अतीक अहमद को लगा तगड़ा झटका, नहीं मिली चुनाव….

1

न्यूज़ डेस्क : फूलपुर लोकसभा सीट से खड़े उम्मीदवार बाहुबली नेता और पूर्व सांसद अतीक अहमद को तगड़ा झटका लगा है. उन्होंने इलाहाबाद कोर्ट ने चुनाव में प्रचार के लिए खुद को पैरोल पर जेल से रिहा किए जाने की मांग की थी पर उनकी उस मांग को इलाहाबाद कोर्ट ने खारिज कर दिया है. जिसके बाद वह अब चुनाव प्रचार नहीं कर पाएंगे.

बता दें कि देवरिया जेल में बंद बाहुबली अतीक अहमद ने फूलपुर सीट पर अपने चुनाव प्रचार के लिए कोर्ट में अर्जी दे 11 मार्च तक की पैरोल मांगी थी. उनके द्वारा दी गई अर्जी में यह दलील दिया गया था कि उनके परिवार में चुनाव प्रचार के लिए कोई बालिग व्यक्ति नहीं है इसलिए उन्हें अपने चुनाव प्रचार के लिए 11 मार्च तक पैरोल पर रिहा किया जाए.

Loading...

इसके साथ ही एक और अर्जी अतीक अहमद द्वारा कोर्ट में दी गई थी जिसमे वह अपने गंभीर बीमारियों का हवाला देते हुए एसीजेएम द्वितीय कोर्ट में ही दाखिल की थी. अर्जी में उन्होंने लिखा था कि उन्हें किडनी, शुगर और हाईब्लड प्रेशर की बीमारी है. इसलिए उन्हें जेल से लखनऊ में इलाज के लिए शिफ्ट की जाए. लेकिन कोर्ट ने इस अर्जी को जेल मैनुअल के तहत न होने के आधार पर खारिज कर दिया.


इस न्यूज़ को शेयर करे तथा कमेंट कर अपनी राय दे.
[shareaholic app=”share_buttons” id=”24259316″]

Leave a Reply

Your email address will not be published.

फूलपुर लोकसभा सीट से खड़े उम्मीदवार अतीक अहमद को लगा तगड़ा झटका, नहीं मिली चुनाव….

1

न्यूज़ डेस्क : फूलपुर लोकसभा सीट से खड़े उम्मीदवार बाहुबली नेता और पूर्व सांसद अतीक अहमद को तगड़ा झटका लगा है. उन्होंने इलाहाबाद कोर्ट ने चुनाव में प्रचार के लिए खुद को पैरोल पर जेल से रिहा किए जाने की मांग की थी पर उनकी उस मांग को इलाहाबाद कोर्ट ने खारिज कर दिया है. जिसके बाद वह अब चुनाव प्रचार नहीं कर पाएंगे.

बता दें कि देवरिया जेल में बंद बाहुबली अतीक अहमद ने फूलपुर सीट पर अपने चुनाव प्रचार के लिए कोर्ट में अर्जी दे 11 मार्च तक की पैरोल मांगी थी. उनके द्वारा दी गई अर्जी में यह दलील दिया गया था कि उनके परिवार में चुनाव प्रचार के लिए कोई बालिग व्यक्ति नहीं है इसलिए उन्हें अपने चुनाव प्रचार के लिए 11 मार्च तक पैरोल पर रिहा किया जाए.

Loading...

इसके साथ ही एक और अर्जी अतीक अहमद द्वारा कोर्ट में दी गई थी जिसमे वह अपने गंभीर बीमारियों का हवाला देते हुए एसीजेएम द्वितीय कोर्ट में ही दाखिल की थी. अर्जी में उन्होंने लिखा था कि उन्हें किडनी, शुगर और हाईब्लड प्रेशर की बीमारी है. इसलिए उन्हें जेल से लखनऊ में इलाज के लिए शिफ्ट की जाए. लेकिन कोर्ट ने इस अर्जी को जेल मैनुअल के तहत न होने के आधार पर खारिज कर दिया.


इस न्यूज़ को शेयर करे तथा कमेंट कर अपनी राय दे.
[shareaholic app=”share_buttons” id=”24259316″]

Leave a Reply

Your email address will not be published.