Input your search keywords and press Enter.

अकबरुद्दीन ओवैसी की गिरफ़्तारी के लिए हैदराबाद पुलिस से मांगी गई मदद

ak-owaisi

ak-owaisi

पटना/किशनगंज.न्यूज़ डेस्क.
AIMIM नेता अकबरूद्दीन ओवैसी के खिलाफ किशनगंज में आदर्श चुनाव आचार संहिता के उल्लंघन करने के आरोप में केस दर्ज कर गिरफ़्तारी का आदेश जारी कर दिया गया है. किशनगंज SP राजीव रंजन ने ओवैसी के खिलाफ प्रधानमंत्री मोदी को शैतान और दरिंदा कहने पर केस दर्ज कराया है.

चुनावी सभा में भाषा की मर्यादा भूलने वाले ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एआइएमआइएम) के राष्ट्रीय अध्यक्ष सांसद असदुद्दीन ओवैसी का छोटा भाई विधायक अकबरुद्दीन ओवैसी फरार हैं अब उसकी गिरफ़्तारी के लिए पुलिस ने हैदराबाद पुलिस से मदद मांगी है.

Loading...

ज्ञात हो कि बीते रविवार को ओवैसी ने किशनगंज में जनसभा कर पार्टी के लिए चुनाव प्रचार की शुरुआत की थी. उनपर आइपीसी की 188, 153ए, 171सी एवं पीआरए की धारा 125 के अंतर्गत मामला दर्ज किया गया है. इसमें एक साल तक जेल की सजा और 5000 तक जुर्माना या दोनों का प्रावधान है. इसके अलावा बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह और राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद पर भी जन प्रतिनिधित्व अधिनियम एवं IPC की विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया है.

अमित शाह के खिलाफ ‘नरभक्षी’ वाली टिप्पणी और वैशाली, पटना और जमुई में विवादास्पद भाषण के मामले में पहले ही लालू पर तीन मुकदमे दर्ज कराए जा चुके हैं जबकि 30 सितंबर को लालू को ‘चारा चोर’ कहने को लेकर भाजपा अध्यक्ष के खिलाफ बेगूसराय में प्राथमिकी दर्ज की गई है. यहाँ आपको बता दें कि आदर्श आचार संहिता के दौरान भारतीय दंड संहिता के 153ए के तहत कोई भी व्यक्ति धर्म,वंश, जन्म-स्थान, निवास स्थान, भाषा, संप्रदाय आदि के आधार पर किसी पर टिप्पणी करने या सामजिक सौहार्द पर प्रतिकूल प्रभाव डालने वाला कार्य करने पर तीन वर्ष तक कारावास या जुर्माना से दंडित करने का प्रावधान है.

(फाइल फोटो)

इस न्यूज़ को शेयर करे और कमेंट कर अपनी राय दे.
[related_posts_by_tax title=”रिलेटेड न्यूज़:”]

Leave a Reply

Your email address will not be published.